Top

सीएम के खिलाफ एक्शन ले चुकी है ये अफसर, लोग कहते हैं लेडी सिंघम

सीएम के खिलाफ एक्शन ले चुकी है ये अफसर, लोग कहते हैं लेडी सिंघम


लुधियाना। अक्सर आपने देखा होगा कि सत्ता के सामने अफसर लाचार हो जाते हैं। लेकिन कुछ अफसर ऐसे भी होते हैं जो कभी अपने सिद्धांतों से समझौता नहीं करते। मुश्किल कितनी ही क्यों न हो कभी अपने घुटने नहीं टेकते। बल्कि खुद मुश्किलें उनके सामने आने से पहले ही रास्ते बदल लेती हैं। ऐसी ही एक अधिकारी हैं डॉ. ऋचा अग्निहोत्री। पंजाब पुलिस 2012 में ज्वाॅइन करने वाली जालंधर की डेन्टिस्ट डा. रिचा अग्निहोत्री ने लुधियाना की ए.सी.पी. (ट्रैफिक) की पहली पोस्टिंग में ड्यूटी इतनी ईमानदारी से निभाई की उन्हें ‘लेडी सिंघम’ कहने लगे। उनका तबादला लुधियाना से जालंधर कर दिया गया है।

http://www.royalbulletin.com/बेनामी-संपत्ति-मामला-लाल/

पी.पी.एस. अफसर डा. रिचा ने डेढ़ साल के कार्यकाल में अवेयरनेस के साथ ट्रैफिक रूल्स एन्फोर्समेंट के लिए कई कदम उठाए।उन्होंने ज्वाॅइनिंग के बाद एन्फोर्समेंट के मामले में न केवल सख्ती बरती, बल्कि नाकों पर विदाउट हेलमेट लोगों का चालान काटने की जगह ऑन द स्पॉट हेलमेट खरीदकर पहनाने का भी प्रयत्न किया।क अधिकारी हैं डॉ. ऋचा अग्निहोत्री. के लिए चित्र परिणाम


इसे अब अमृतसर पुलिस फॉलो कर रही है। हाल ही में हूटर वाली कारें और पटाखे वाले बुलेट को पकड़ने की भी शुरुआत उन्होंने ही की। रूल्स तोड़ते पुलिस अधिकारी मिले या पंजाब के सी.एम. बादल की बस, ए.सी.पी. ने सबका चालान कटवाया।
एक बार जब एम.एल.ए. बैंस की गाड़ी पर लगे स्टिकर उतरवा दिए तो शिकायत विधानसभा स्पीकर तक पहुंची।

क अधिकारी हैं डॉ. ऋचा अग्निहोत्री. के लिए चित्र परिणाम

उनको डी.टी.ओ. गर्ग के साथ विधानसभा में भी पेश होना पड़ा। लुधियाना में जब ट्रैफिक एन्फोर्समेंट के लिए स्पेशल नाकाबंदी की जा रही थी तो डाॅ. रिचा का ट्रांसफर हो रहा था। मगर पता चला तो तत्कालीन पुलिस कमिश्नर प्रमोद बान ने ट्रांसफर रुकवा दिया था। वह कहती हैं कि चुनौतियों को स्वीकार करना उन्हें अच्छा लगता है।

Share it