Top

मिल गया राम रहीम का गुरु..!

आज देश में जिस तरह बाबाओं की दुकानें चल रहीं है, उससे तो ऐसा ही लगता है की देश का एक बहुत बड़ा तबका जो पढ़ा-लिखा होने के बावजूद अंधश्रद्धा का शिकार है, या फिर वह अपनी नाकाम व असंभव कामनाओं के प्रति इतना स्वार्थी हो गया है की उसे नैतिक-अनैतिक का बोध ही नहीं रह गया है, जिसके कारण धर्म के इन व्यापारी बाबाओं का धंधा दिन दूनी-रात चौगुनी गति से फल-फूल रहा है। ढोंगी-पाखंडी, बलात्कारी बाबा समाज में अपना झंडा गाड़ लेते है। जनता की धार्मिक भावनाओं का शोषण कर रहा है। इस बाबा को देखिए औरतों के इलाज करने के नाम पर किस तरह से उनकी इज्जत के साथ खेल रहा है। किसी बाबा का आशीर्वाद आपको बच्चे नहीं जना सकता और न ही कभी रसगुल्ले खाने से सारी मनोकामनाएं पूरी हो सकती है।

-वीडियो साभार

Share it