Top

महिला जू. हॉकी टीम आस्ट्रेलिया से हारी, लेकिन टूर्नामेंट जीती

महिला जू. हॉकी टीम आस्ट्रेलिया से हारी, लेकिन टूर्नामेंट जीती



कैनबरा- भारतीय जूनियर महिला हाॅकी टीम को रविवार तीन देशों के टूर्नामेंट में मेज़बान आस्ट्रेलिया के हाथों आखिरी मैच में 1-2 से शिकस्त झेलनी पड़ी, लेकिन इस हार के बावजूद तालिका में सर्वाधिक अंकों के साथ वह खिताब पाने में सफल रही।

भारतीय टीम के लिये यह तीन देशों के इस टूर्नामेंट में पहली हार थी। भारत को आखिरी मैच में हार के बावजूद तीन देशों के टूर्नामेंट में खिताबी जीत हासिल हुई है। वह अपने चार मैचों में सर्वाधिक सात अंकों के साथ विजेता रहा है। आस्ट्रेलिया दूसरे नंबर पर रहा जबकि न्यूजीलैंड तीन अंक लेकर तीसरे नंबर पर रहा।

आस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ चौथे और आखिरी मैच में भारत ने 53वें मिनट में गगनदीप कौर के गोल से बराबरी हासिल कर एक बार फिर जीत की उम्मीद जगायी थी लेकिन मेज़बान टीम की युवा खिलाड़ी एबीगेल विल्सन ने 56वें मिनट में अपना दूसरा गोल कर टीम को 2-1 की बढ़त दिला दी जिसके साथ ही आस्ट्रेलियाई टीम ने अपनी जीत सुनिश्चित कर ली। इससे पहले मैच के 15वें मिनट में ही एबीगेल ने अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई थी।

भारतीय टीम के लिये मैच का पहला क्वार्टर कुछ दबावपूर्ण रहा। मेहमान टीम को पहले 15 मिनट में संघर्ष करना पड़ा जबकि आस्ट्रेलिया ने पेनल्टी कार्नर हासिल कर एबीगेल के गोल से बढ़त हासिल कर ली। दूसरे क्वार्टर में मेहमान टीम ने वापसी का प्रयास किया। उसे 22वें मिनट में पेनल्टी कार्नर मिला लेकिन उसका निशाना चूक गया जबकि 26वें मिनट में आस्ट्रेलिया की हाना एस्टबरी ने बेहतरीन डाइव के साथ भारत के पेनल्टी कार्नर का बचाव कर उसे बराबरी नहीं लेने दी।

आस्ट्रेलिया के पास भी पेनल्टी स्ट्रोक पर गोल के दो बढ़िया मौके आये थे लेकिन भारतीय गोलकीपर बीचू देवी खारीबम ने अच्छे बचाव के साथ हाफ टाइम तक उसे 1-0 पर ही रोके रखा।

तीसरे क्वार्टर में दोनों ही टीमें गोल करने से चूक गयीं। दोनों के पास पेनल्टी कार्नर पर गोल के मौके आये लेकिन गोलकीपरों ने गोल नहीं होने दिये। मैच के चौथे क्वार्टर में भारत ने अधिक आक्रामकता दिखाई और 53वें मिनट में पेनल्टी कार्नर हासिल करते हुये गगनदीप के गोल से मैच को 1-1 की बराबरी पर पहुंचा दिया। हालांकि यह बढ़त तीन मिनट ही बरकरार रही और एबीगेल ने एक और गोल से अपनी टीम को बढ़त दिला दी। भारत ने बाकी बचे चार मिनटों में फिर से बराबरी के काफी प्रयास किये लेकिन उसे कामयाबी नहीं मिली।


Share it
Top