Top

गब्बर की शतकीय दहाड़ से जीती दिल्ली

गब्बर की शतकीय दहाड़ से जीती दिल्ली

शारजाह, - गब्बर के नाम से मशहूर सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (नाबाद 101) के पहले टी-20 शतक और आखिरी ओवर में आलराउंडर अक्षर पटेल के तीन छक्कों की बदौलत दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को शनिवार को पांच विकेट से हराकर आईपीएल में सातवीं जीत दर्ज करते हुए 14 अंकों के साथ तालिका में शीर्ष स्थान हासिल कर लिया। दिल्ली अब प्लेऑफ से एक जीत दूर रह गयी है।

चेन्नई ने फाफ डू प्लेसिस (58), अंबाटी रायुडू (नाबाद 45) और रवींद्र जडेजा (नाबाद 33) की बेहतरीन पारियों से 20 ओवर में चार विकेट पर 179 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया लेकिन गब्बर को नाबाद शतक चेन्नई पर भारी पड़ गया। दिल्ली ने 19.5 ओवर में पांच विकेट पर 185 रन बनाकर शानदार जीत हासिल कर ली। प्लेयर ऑफ द मैच शिखर ने 58 गेंदों पर नाबाद 101 रन में 14 चौके और एक छक्का लगाया।

दिल्ली को आखिरी ओवर में जीत के लिए 17 रन चाहिए थे। ड्वेन ब्रावो के चोटिल होने के कारण कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने यह ओवर लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा को दिया। अक्षर पटेल ने दूसरी गेंद पर छक्का पड़ दिया और तीसरी गेंद को भी छक्के के लिए उड़ा दिया। पटेल ने इन दो छक्कों से मैच का नक्शा बदल दिया। पटेल ने पांचवीं गेंद पर छक्का लगाकर मैच समाप्त करते हुए जीत दिल्ली की झोली में डाल दी। पटेल पांच गेंदों में 21 रन बनाकर नाबाद रहे।

लक्ष्य का पीछा करते हुए सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने एक छोर संभाले रखा जबकि दूसरे छोर पर विकेट गिरते रहे। युवा ओपनर पृथ्वी शॉ पहले ओवर में खाता खोले बिना दीपक चाहर को रिटर्न कैच दे बैठे। अजिंक्या रहाणे 10 गेंदों में आठ रन बनाने के बाद चाहर का दूसरा शिकार बने। दिल्ली का दूसरा विकेट 26 के स्कोर पर गिरा।

शिखर ने फिर कप्तान श्रेयस अय्यर के साथ तीसरे विकेट के लिए 68 रन की साझेदारी की। शिखर ने टूर्नामेंट में लगातार तीसरा अर्धशतक पूरा कियाजिसे बाद में उन्होंने अपने पहले टी-20 शतक में बदला। अय्यर को ड्वेन ब्रावो ने फाफ डू प्लेसिस के हाथों कैच करा दिया। अय्यर ने 23 गेंदों पर 23 रन में एक चौका और एक छक्का लगाया।

अय्यर का विकेट 94 के स्कोर पर गिरा। मार्कस स्टॉयनिस 14 गेंदों में एक चौके और दो छक्के की मदद से 24 रन बनाकर 137 के स्कोर पर आउट हुए। उनका विकेट शार्दुल ठाकुर ने लिया। मैच रोमांचक होता जा रहा था और दिल्ली की उम्मीदें शिखर पर टिकी हुई थीं। चेन्नई को अब विकेट की सख्त जरूरत थी।

शिखर 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर चौका मारकर 98 रन पर पहुंच गए। अब दिल्ली को अंतिम 12 गेंदों पर 21 रन की जरूरत थी। एलेक्स कैरी 19वें की पहली गेंद पर डू प्लेसिस को कैच दे बैठे। कैरी का विकेट सैम करेन ने लिया। कैरी ने सात गेंदों में चार रन बनाये। शिखर ने 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर सिंगल लेकर अपने टी-20 करियर का पहला शतक 57 गेंदों में 14 चौकों और एक छक्के की मदद से पूरा कर लिया।

आखिरी ओवर डालने आये लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा और दिल्ली को चाहिए थे 17 रन। अक्षर पटेल ने दूसरी गेंद पर छक्का पड़ दिया और तीसरी गेंद को भी छक्के के लिए उड़ा दिया। पटेल ने इन दो छक्कों से मैच का नक्शा बदल दिया। पटेल ने पांचवीं गेंद पर छक्का लगाकर मैच समाप्त करते हुए जीत दिल्ली की झोली में डाल दी।

इससे पहले चेन्नई की पारी में रायुडू और जडेजा ने अंतिम ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की और पांचवें विकेट के लिए 21 गेंदों पर 50 रन की अविजित साझेदारी कर डाली। चेन्नई ने अंतिम पांच ओवरों में 67 रन जोड़ डाले। रायुडू ने 25 गेंदों पर नाबाद 45 रन में एक चौका और चार छक्के लगाए जबकि जडेजा ने मात्र 13 गेंदों पर नाबाद 33 रन में चार छक्के लगाए। जडेजा का एक छक्का तो शारजाह स्टेडियम के बाहर सड़क पर गिरा।

डू प्लेसिस ने 47 गेंदों पर 58 रन में छह चौके और दो छक्के लगाए। शेन वाटसन 28 गेंदों में छह चौकों की मदद से 36 रन बनाकर आउट हुए। कप्तान महेंद्र सिंह की खराब फॉर्म इस मैच में भी जारी रही और वह पांच गेंदों में तीन रन बनाकर विकेट के पीछे लपके गए।

चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। ओपनिंग में उतरे सैम करेन खाता खोले बिना तुषार पांडे की गेंद पर आउट हो गए। डू प्लेसिस और वाटसन ने दूसरे विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी की। वाटसन को एनरिच नोर्त्जे ने बोल्ड किया। डू प्लेसिस को कैगिसो रबादा ने आउट किया। धोनी का विकेट नोर्त्जे ने लिया।

धोनी 129 के स्कोर पर आउट हुए लेकिन इसके बाद रायुडू और जडेजा ने शानदार बल्लेबाजी की। रायुडू ने 19वें ओवर में कैगिसो पर दो छक्के और जडेजा ने आखिरी ओवर में नोर्त्जे पर दो छक्के मारे। आखिरी तीन ओवर में 45 रन गए।

चेन्नई को नौ मैचों में छठी हार का सामना करना पड़ा और वह छह अंकों के साथ छठे स्थान पर है। प्लेऑफ के लिए चेन्नई को अब अपने बचे सभी पांच मैच जीतने होंगे।

दिल्ली को आखिरी ओवर में जीत के लिए 17 रन चाहिए थे। ड्वेन ब्रावो के चोटिल होने के कारण कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने यह ओवर लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा को दिया। अक्षर पटेल ने दूसरी गेंद पर छक्का पड़ दिया और तीसरी गेंद को भी छक्के के लिए उड़ा दिया। पटेल ने इन दो छक्कों से मैच का नक्शा बदल दिया। पटेल ने पांचवीं गेंद पर छक्का लगाकर मैच समाप्त करते हुए जीत दिल्ली की झोली में डाल दी। पटेल पांच गेंदों में 21 रन बनाकर नाबाद रहे।

लक्ष्य का पीछा करते हुए सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने एक छोर संभाले रखा जबकि दूसरे छोर पर विकेट गिरते रहे। युवा ओपनर पृथ्वी शॉ पहले ओवर में खाता खोले बिना दीपक चाहर को रिटर्न कैच दे बैठे। अजिंक्या रहाणे 10 गेंदों में आठ रन बनाने के बाद चाहर का दूसरा शिकार बने। दिल्ली का दूसरा विकेट 26 के स्कोर पर गिरा।

शिखर ने फिर कप्तान श्रेयस अय्यर के साथ तीसरे विकेट के लिए 68 रन की साझेदारी की। शिखर ने टूर्नामेंट में लगातार तीसरा अर्धशतक पूरा कियाजिसे बाद में उन्होंने अपने पहले टी-20 शतक में बदला। अय्यर को ड्वेन ब्रावो ने फाफ डू प्लेसिस के हाथों कैच करा दिया। अय्यर ने 23 गेंदों पर 23 रन में एक चौका और एक छक्का लगाया।

अय्यर का विकेट 94 के स्कोर पर गिरा। मार्कस स्टॉयनिस 14 गेंदों में एक चौके और दो छक्के की मदद से 24 रन बनाकर 137 के स्कोर पर आउट हुए। उनका विकेट शार्दुल ठाकुर ने लिया। मैच रोमांचक होता जा रहा था और दिल्ली की उम्मीदें शिखर पर टिकी हुई थीं। चेन्नई को अब विकेट की सख्त जरूरत थी।

शिखर 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर चौका मारकर 98 रन पर पहुंच गए। अब दिल्ली को अंतिम 12 गेंदों पर 21 रन की जरूरत थी। एलेक्स कैरी 19वें की पहली गेंद पर डू प्लेसिस को कैच दे बैठे। कैरी का विकेट सैम करेन ने लिया। कैरी ने सात गेंदों में चार रन बनाये। शिखर ने 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर सिंगल लेकर अपने टी-20 करियर का पहला शतक 57 गेंदों में 14 चौकों और एक छक्के की मदद से पूरा कर लिया।

आखिरी ओवर डालने आये लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा और दिल्ली को चाहिए थे 17 रन। अक्षर पटेल ने दूसरी गेंद पर छक्का पड़ दिया और तीसरी गेंद को भी छक्के के लिए उड़ा दिया। पटेल ने इन दो छक्कों से मैच का नक्शा बदल दिया। पटेल ने पांचवीं गेंद पर छक्का लगाकर मैच समाप्त करते हुए जीत दिल्ली की झोली में डाल दी।

इससे पहले चेन्नई की पारी में रायुडू और जडेजा ने अंतिम ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की और पांचवें विकेट के लिए 21 गेंदों पर 50 रन की अविजित साझेदारी कर डाली। चेन्नई ने अंतिम पांच ओवरों में 67 रन जोड़ डाले। रायुडू ने 25 गेंदों पर नाबाद 45 रन में एक चौका और चार छक्के लगाए जबकि जडेजा ने मात्र 13 गेंदों पर नाबाद 33 रन में चार छक्के लगाए। जडेजा का एक छक्का तो शारजाह स्टेडियम के बाहर सड़क पर गिरा।

डू प्लेसिस ने 47 गेंदों पर 58 रन में छह चौके और दो छक्के लगाए। शेन वाटसन 28 गेंदों में छह चौकों की मदद से 36 रन बनाकर आउट हुए। कप्तान महेंद्र सिंह की खराब फॉर्म इस मैच में भी जारी रही और वह पांच गेंदों में तीन रन बनाकर विकेट के पीछे लपके गए।

चेन्नई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। ओपनिंग में उतरे सैम करेन खाता खोले बिना तुषार पांडे की गेंद पर आउट हो गए। डू प्लेसिस और वाटसन ने दूसरे विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी की। वाटसन को एनरिच नोर्त्जे ने बोल्ड किया। डू प्लेसिस को कैगिसो रबादा ने आउट किया। धोनी का विकेट नोर्त्जे ने लिया।

धोनी 129 के स्कोर पर आउट हुए लेकिन इसके बाद रायुडू और जडेजा ने शानदार बल्लेबाजी की। रायुडू ने 19वें ओवर में कैगिसो पर दो छक्के और जडेजा ने आखिरी ओवर में नोर्त्जे पर दो छक्के मारे। आखिरी तीन ओवर में 45 रन गए।

चेन्नई को नौ मैचों में छठी हार का सामना करना पड़ा और वह छह अंकों के साथ छठे स्थान पर है। प्लेऑफ के लिए चेन्नई को अब अपने बचे सभी पांच मैच जीतने होंगे।

Share it