Top

मैक्सवेल ने हासिल की ऐतिहासिक उपलब्धि, सबसे कम गेंदो पर पूरे किये तीन हजार रन

मैक्सवेल ने हासिल की ऐतिहासिक उपलब्धि, सबसे कम गेंदो पर पूरे किये तीन हजार रन

मैनचेस्टर। इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे और निर्णायक एकदिनी मैच में 90 गेंदों पर 108 रन की मैच जीताऊ पारी खेलने वाले ऑस्ट्रेलिया के हरफनमौला खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल ने एक ऐतिहासिक उपलब्धि अपने नाम कर ली है। मैक्सवेल ने इस मैच जीताऊ पारी के साथ ही एकदिवसीय क्रिकेट में गेंद के आधार पर सबसे तेज 3 हजार रन बनाने का कारनामा किया।

मैक्सवेल ने 3 हजार एकदिनी रन बनाने में केवल 2440 गेंद का सामना किया। इतनी कम गेंद में कोई भी बल्लेबाज 3 हजार के आंकड़े तक नहीं पहुंचा है। इससे पहले एकदिवसीय प्रारूप में सबसे कम गेंदों में 3 हजार रन बनाने का रिकॉर्ड इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्ललेबाज जोस बटलर ने हासिल किया था, बटलर ने 3 हजार रन 2533 गेंद में पूरे किए थे। लेकिन मैक्सवेल ने यहां पर बटलर को पीछे छोड़ते हुए यह उपलब्धि अपने नाम की।

बता दें कि तीसरे एकदिवसीय में इंग्लैंड ने बेयरस्टो के शतक और वोक्स (नाबाद 53) और बिलिंग्स (57) के अर्धशतकों की बदौलत 7 विकेट पर 302 रन बनाये थे। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने मैक्सवेल (108) और एलेक्स कैरी (114) की शतकों की बदौलत 49.4 ओवरों में 7 विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया।

टीम में मेरी भूमिका स्पष्ट थी,कप्तान का मिला पूरा समर्थन : मैक्सवेल

इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे और निर्णायक एकदिवसीय मैच में 108 रनों की शानदार पारी खेलने वाले ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल ने अपनी इस शतकीय पारी का श्रेय कप्तान एरोन फिंच को देते हुए कहा कि टीम में उनकी भूमिका स्पष्ट थी और उन्हें कप्तान का पूरा समर्थन था।

मैक्सवेल ने कहा,"मुझे लगता है कि मैं इस मैच को आगे ले जाने में इसलिए सक्षम हुआ क्योंकि उन्होंने मुझे टूर्नामेंट से पहले स्पष्ट राह दिखा दी थी मुझे केवल अपनी लय को बरकरार रखते हुए उस दिशा में आगे बढ़ना था। मुझे पता था कि कप्तान मेरी इस भूमिका के समर्थन में हैं।"

मैक्सवेल ने कहा, "फिंच टीम के सभी सदस्यों के लिए अच्छे रहे और टीम को एकजुट रखा। उन्होंने बतौर कप्तान बहुत अच्छा काम किया। चाहे वह मैदान में हो या मैदान के बाहर वो सभी जगह शानदार रहे।"

मैक्सवेल ने कहा, "वास्तव में अच्छी बात यह भी है कि मैं जब फिंच के साथ ट्रेनिंग कर रहा था, तब हम टीम में अपनी भूमिका और अन्य चीजों के बारे में बात करने में सक्षम थे। मुझे केवल इतनी स्पष्टता चाहिए थी।" मैक्सवेल ने अपनी धमाकेदार पारी में 90 गेंद पर सात छक्के और चार चौके की मदद से 108 रन बनाए। उन्होंने एलेक्स कैरी के साथ छठे विकेट के लिए 212 रन की साझेदारी की। मैक्सवेल को उनके शानदार शतक के लिए मैन ऑफ द मैच और सीरीज में ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द सीरीज भी चुना गया।

बता दें कि तीसरे एकदिवसीय में इंग्लैंड ने बेयरस्टो के शतक और वोक्स (नाबाद 53) और बिलिंग्स (57) के अर्धशतकों की बदौलत 7 विकेट पर 302 रन बनाये थे। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने मैक्सवेल (108) और एलेक्स कैरी (106) की शतकों की बदौलत 49.4 ओवरों में 7 विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया। (एजेंसी, हि.स.)

Share it