Top

राखी का बंधन है सब बंधन से प्यारा

राखी का बंधन है सब बंधन से प्यारा

भाई-बहनों के प्यार से सराबोर त्यौहार है 'रक्षाबंधन'। यह दिन बहनों के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। इस दिन बहने अपने भाईयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती है और भाई अपनी बहनों की रक्षा की कसम खाते हैं। आइए जानते हैं इन बहनों के लिए रक्षाबंधन कितना महत्व रखता है।

नेहा - मेरे लिए रक्षाबंधन का त्यौहार बचपन से ही ख़ास रहा है। इस दिन मेरे भईया मुझे, मैं जो मांगती हूं, वह जरूर दिलाते हैं। वैसे मैं अपने भईया से कुछ नहीं मांगती हूं, लेकिन मुझे जो चाहिए वह मेरे भईया दिला देते हैं। मुझे राखी में पैसों से अच्छा, गिफ्ट लेना लगता है। लेकिन मैं भईया को कहती हूं कि वे मेरे लिए ज्यादा महंगे सामान न लें।

ऋचा - मैं रक्षाबंधन को बहुत अच्छी तरह मनाती हूं। यही एक ऐसा त्योहार है, जिसे मनाने का तरीका अन्य पर्वो से बिल्कुल अलग है। इस दिन मैं केवल अपने भाई को ही नहीं बल्कि उनके दोस्तों को भी राखी बांधती हूं। वैसे सच कहूं तो उस दिन मेरे पास काफी पैसे जमा हो जाते हैं। उन पैसों से मैं अपने लिए कोई अच्छी सी ड्रेस खरीदती हूं।

आकांक्षा - रंग-बिरंगी राखियां खरीदना मुझे बहुत पंसद है। मैं राखी आने से पहले ही अच्छी-अच्छी राखियों की खरीदारी कर लेती हूं। मिठाई राखी वाले दिन से एक दिन पहले खरीदती हूं। राखी पर मैं नये कपड़े जरूर पहनती हूं। अपने छोटे से भईया को राखी बांधने के लिए मैं साल भर इंतजार करती हूं। घर में इस त्योहार पर काफी चहल-पहल वाला माहौल रहता है। इस दिन घर पर बहुत सारे लोग आते हैं।

मोनिका - मेरा भाई मुझसे छोटा है। इसीलिए मैं ही उसे राखी के दिन कोई न कोई गिफ्ट जरूर देती हूं। हम उस दिन घूमने जाते हैं। हम उस दिन फिल्म भी देखने जाते हैं। जब भी रक्षाबंधन आने वाला होता है तो मैं उसकी तैयारी पहले से ही कर लेती हूं। अपने भाई के गिफ्ट के लिए मैं पहले से ही कुछ पैसे बचा कर रखती हूं।

पूर्णिमा - मेरा अपना भाई नहीं है। बचपन में मुझे रक्षाबंधन के दिन अच्छा नहीं लगता था। तब मैंने अपने परिवार के दूसरे भाईयों को राखी बांधना शुरू किया। अब रक्षाबंधन के दिन मुझे नहीं लगता कि मेरा कोई अपना भाई नहीं है। रक्षाबंधन सिर्फ भाईयों का त्योहार नहीं बल्कि इस दिन परिवार के सभी लोग मिलकर इसे मनाते हैं।

Share it