Top

Read latest updates about "संबंध" - Page 1

  • होश न खो दें प्यार में

    'प्यार किया नहीं जाता, हो जाता है' यह कहावत सुनने में अच्छी और सच्ची लगती है पर फिर भी प्यार करते समय जोश में होश न खोएं तो अच्छा होगा। यह तो प्रकृति की देन है कि विपरीत लिंग की ओर आकर्षण ज्यादा होता है पर किसी से प्रेम करते समय सोच समझ कर करें तो पछतावा हाथ नहीं लगेगा। प्यार का हाथ सोच समझ कर आगे...

  • विवाहेत्तर संबंध: ऊब का विकल्प

    शिक्षा के विकास ने स्त्रियों को आत्मनिर्भर बनाया। वे बाहर नौकरी करने लगी। उनके व्यक्तित्व का विकास हुआ। अब वे घर की चारदीवारी से बाहर सार्वजनिक क्षेत्रों में पुरूष के बराबर भागीदार बन के कार्य करने लगी लेकिन समाज आज भी पुरूषों का ही है। अपनी अस्मिता की चाह लिये जब स्त्री उसमें अपनी जगह ढंूढने चली...

  • नाजायज रिश्ते लाते हैं जीवन में तूफान

    रिश्ता कोई भी हो, उसमें पवित्रता का होना अत्यंत आवश्यक है, खासतौर पर पति पत्नी के रिश्ते में जो भारतीय संस्कृति में सबसे पवित्र सात फेरों का बन्धन होता है। पति पत्नी सात जन्मों तक साथ निभाने की कसमें खाते हैं लेकिन आज ये सात कसमें झूठी होती नजर आ रही हैं। पति पत्नी के बीच एक जन्म तो पूरा ठीक से...

  • क्यों नहीं ले पाते नवविवाहित पति-पत्नी यौन जीवन का आनंद

    प्राय: लड़कियों के मस्तिष्क में किशोरावस्था से ही दुल्हन बनने की कल्पना हिलोरे लेने लगती है। उनकी यह कल्पना मनचाहा जीवन साथी मिलने के बाद पूरी हो जाती है और शुरू होती है एक नई जिन्दगी। तो इसी जिन्दगी के प्रारंभ में महत्त्वपूर्णं होती है शादी के तुरन्त बाद सुहागरात। सुहागरात न केवल शारीरिक संबंधों...

  • सहवास कब दवा, कब बला?

    यौन आनन्द तन-मन को ऊर्जा प्रदान करता है, इसमें कोई दो राय नहीं हैं किन्तु सहवास के कारण अगर स्वास्थ्य निरन्तर गिरता चला जाए या जीवन संगिनी को स्वास्थ्य संबंधी अनेक विकारों से ग्रस्त होना पड़े, शायद यह किसी भी दम्पति को पसंद नहीं होगा। कुछ लोग सिरदर्द, थकान, तनाव डिप्रेशन आदि को मिटाने के लिए सहवास...

  • घर से बाहर पुरूषों से संबंध क्या अपराध है?

    'कामकाजी महिलाओं का कोई चरित्र नहीं होता। हर कामकाजी महिला का गैर पुरूष से संबंध होता है। वह घर से ऊब जाती है, इसीलिए नौकरी करती है।' कामकाजी महिलाओं पर ऐसे फिकरे कसा जाना या उन पर इस तरह से इल्जाम लगाना आज के समय में आम बात हो गयी है। कामकाजी महिलाएं, घरेलू परेशानियों, सास की टोकाटोकी, पति द्वारा...

  • यौन रोगों से सावधान रहें

    यौन संचारित रोग आमतौर पर असुरक्षित मैथुन द्वारा होते हैं लेकिन कभी-कभी दूषित रक्तदान, दूषित सुई द्वारा त्वचा को बेधने से या संक्र मित मां से उसके गर्भ में पल रहे बच्चे को या प्रसूति के समय भी यह रोग संचारित हो सकते हैं। अलग-अलग तरह के रतिज रोग बैक्टीरिया जैसे जीवाणु द्वारा संक्र मित होते हैं जो...

  • पति-पत्नी के बीच तनाव

    आज जमाना तेजी से बदल रहा है। कामकाजी पति-पत्नी के बीच नाना प्रकार की समस्याएं सिर उठाने लगी हैं, इसलिए दोनों के जीवन में तनाव बढ़ता जा रहा है, और एक छत के नीचे एक साथ रहने के बावजूद दोनों के व्यवहार में मिठास के बजाय खटास आने लगी है। दोनों के कामकाजी होने के कारण दोनों तरफ से वाणी के तीर मुंह से...

  • संवादहीनता से बचना जरूरी है

    स्त्री-पुरूष संबंधों में सबसे महत्त्वपूर्ण है सफल दांपत्य। प्रेम और सामंजस्य सफल दांपत्य की कुंजी हैं। आज के दौर में अधिकांश दंपति कामकाजी हैं। आगे बढऩे की जद्दोजहद में वे इस तरह फंसे हैं कि जिस घर परिवार की खुशहाली के लिए वे यह सब कर रहे हैं, वह घर परिवार ही उनसे दूर होता जा रहा है। तलाक की दर में...

  • स्वस्थ जीवन का आधार है सेक्स

    तीसरी और चौथी शताब्दियों में लिखा गया कामसूत्र आज भी रति सुख के लिए सब से ज्यादा उपयोगी ग्रंथ है। खजुराहो के मंदिरों में प्रदर्शित उत्तेजक तथा कामसूत्र के दृश्य प्राचीन भारतीय यौन संस्कृति की सही जानकारी देते हैं। कामसूत्र पुस्तक में वर्णित 1250 सूत्रों को 7 भागों में बांटा गया है जैसे आप के...

  • पति के अलावा

    'सर, आज मेरे हसबैंड टूर पर चले गये हैं। आज मेरे घर चलिये।' रीता एक दफ्तर में काम करती है। दफ्तर के बास वर्मा उस पर फिदा हैं। काफी दिनों से उनकी रीता से छेड़छाड़ चल रही थी। रीता के पति की टूरिंग जॉब नहीं है लेकिन कभी-कभी उसे दफ्तर के काम से दो तीन दिन के लिए मुम्बई से बाहर जाना पड़ता है। अबके वह...

  • दांपत्य जीवन में बनाये रखें गर्मजोशी

    दांपत्य जीवन को सुचारू रूप से चलाने के लिए सबसे जरुरी है आपसी अटूट विश्वास। यदि आपके वैवाहिक जीवन की नींव अविश्वास रूपी ईटों पर टिकी है तो आपका वैवाहिक जीवन सुखमय नहीं रह सकता। इसके साथ ही बीती बातों पर चर्चा न करें। जो आपके पास है, उस पर भरोसा रखें। बीते हुए कल पर चर्चा करने से हासिल कुछ नहीं होता,...

Share it
Top