Top

सहारनपुर : उद्योग विभाग की भूमि पर देवबंद तहसील और कोतवाली के बनेंगे नए भवन, रोडवेज डिपो भी बनेगा

सहारनपुर : उद्योग विभाग की भूमि पर देवबंद तहसील और कोतवाली के बनेंगे नए भवन, रोडवेज डिपो भी बनेगा


सहारनपुर (गौरव सिंघल)। कानून व्यवस्था और जन सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने निर्णय लिया है कि सहारनपुर जनपद के महत्वपूर्ण और संवेदनशील सबसे बडे नगर देवबंद में कोतवाली और तहसील को रेलवे रोड क्षेत्र में उद्योग विभाग की अतिरिक्त बेकार पडी भूमि पर लाया जाएगा।

नागरिक संशोधन कानून को लेकर कानून व्यवस्था की निगरानी के लिए कमिश्नर संजय कुमार और डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल, डीएम आलोक पांडे और एसएसपी दिनेश कुमार पी ने अनुभव किया कि ये दोनो महत्वपूर्ण कार्यालयो के भवन शहर के भीड भरे और तंग क्षेत्र से बाहर किए जाने आवश्यक है। इसके लिए पहले भी प्रयास हुए और योजनाएं बनी पर काम आगे नहीं बढ सका। इस बार उत्पन्न परेशानियों को गहराई से महसूस किया गया। कमिश्नर संजय कुमार ने सहयोगी अफसरो के साथ स्वयं भी नए कार्यालय और भवनो के लिए उपयुक्त स्थानों का निरीक्षण किया। उन्होंने आज इस संवाददाता को बताया कि एसडीएम राकेश कुमार को जल्द से जल्द उपयुक्त भूमि तलाशने और कार्य योजना तैयार करने को कहा गया है। उन्होंने अभी तक की प्रगति की जानकारी भी ली और यह भी कहा कि यदि इसके लिए जमीन खरीदनी पडी तो खरीदी जाएगी। कमिश्नर ने देवबंद में नगर और क्षेत्रवासियों की रोडवेज डिपो की लगातार उठ रही मांग को भी गंभीरता से लेते हुए यूपी रोडवेज के मंडलीय प्रबंधक मनोज पुंडीर को बुलाकर इस दिशा में तेजी से पहल करने के निर्देश दिए। जिस स्थान पर वर्तमान में बस स्टैंड है। वह भूमि नगर पालिका से किराए पर है। लेकिन वहां रोडवेज डिपो तभी बन पाएगा। जब पालिका अपनी उस भूमि को रोडवेज निगम को लीज पर दे दे। संजय कुमार ने एसडीएम को कहा कि वह पालिकाध्यक्ष और अधिशासी अधिकारी को लीज के लिए तैयार करे।

जिससे देवबंद में लोगों की परिवहन की उपयुक्त सुविधा शीघ्र से शीघ्र मिल सके। कमिश्नर संजय कुमार ने कहा कि देवबंद नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग पर पांच किमी लंबा फ्लाईओवर है। हम लोगों की इच्छा है कि इस फ्लाईओवर से गुजरने वाले हजारो लोग देवबंद के प्रमुख स्थान पर बहुत ऊंचा और शान से फहराता राष्ट्रीय झंडा देखे। जिलाधिकारी आलोक पांडे, दारूल उलूम देवबंद के प्रबंधकों से इस संबंध में आवश्यक वार्ता कर रहे है। जहां अभी एक ऊंचा भव्य और कई मंजिली बहुद्देश्यीय पुस्तकालय भवन बनकर तैयार हुआ है। उस पर किसी तरह सेे यह झंडा लग जाए तो देवबंद नगर की प्रतिष्ठा और महत्व दोनो बढ जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रशासन चाहता है कि देवबंद में यूनीपोल पर 24 घंटे ऊंचा राष्ट्रीय झंडा फहराने का काम बहुत जल्द हो जाए। जिलाधिकारी आलोक पांडे इसमे पूरी रूचि ले रहे है। आशा है कि दारूल उलूम का प्रबुद्ध नेतृत्व इस कार्य में भरपूर अपेक्षित सहयोग करेगा। कमिश्नर संजय कुमार ने इस संवाददाता से बातचीत में कहा कि सहारनपुर और मुजफ्फरनगर जनपदों में 127 किमी क्षेत्र में होकर बह रही हिंडन नदी को अतिक्रमणमुक्त कराने को जिला प्रशासन 1 फरवरी से अभियान शुरू करेगा। अभियान की इस कड़ी में हिंडन नदी के एरिया से अतिक्रमण हटाने के साथ ही वहां पर पौधरोपण भी किया जाएगा। उन्होने बताया कि हिंडन नदी सहारनपुर जनपद में 93 किमी और मुजफ्फरनगर की सीमा में 27 किमी में होकर बह रही है। जिसे अतिक्रमणमुक्त किया जाना है।

इसके लिए एक फरवरी से अभियान शुरू किया जाएगा। जिसमें तहसील, वन, सिंचाई और पुलिस विभाग का सहयोग लिया जाएगा। अभियान 31 मई तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद बरसात से पहले अतिक्रणमुक्त की गई भूमि पर करीब ढ़ाई लाख पौधों का रोपण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के तहत कंपनी बाग में थीम पार्क विकसित किया जाएगा। जिस पर 8.5 करोड़ रूपये व्यय आएगा। इस पार्क में प्रतिदिन छह हजार लोग घूमने के लिए आते हैं। 121 एकड में फैले इस पार्क में आधुनिक शौचालय, पुस्तकालय, बहुउद्देशीय प्रशिक्षण एवं बागवानी के लिए हॉल का निर्माण किया जाएगा। जिसमें 200 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी। बाग में स्थित तीनो द्वारों को नये सिरे से भव्य रूप में निर्मित किया जाएगा। एलईडी लाइटे लगाई जाएगी। बैठने के लिए सुविधाजनक छायादार सीटे होगी। बटरफ्लाई (तितली) पार्क, योगा मंच भी बनाया जाएगा। जहां निशुल्क योग की शिक्षा दी जाएगी। तीन किमी का नया चिल्ड्रन पार्क भी बनाने की योजना है।

Share it
Top