Top

सहारनपुर : मंदिर, मस्जिद और गुरूद्वारे इबादत के लिए बंद, उल्लंघन करने पर होगी कड़ी कार्रवाई

सहारनपुर : मंदिर, मस्जिद और गुरूद्वारे इबादत के लिए बंद, उल्लंघन करने पर होगी कड़ी कार्रवाई


सहारनपुर (गौरव सिंघल)। करीब 40 फीसदी मुस्लिम आबादी वाले जनपद सहारनपुर में पुलिस और प्रशासन ने आज अत्यंत कडा रूख अख्तियार करते हुए घोषणा की है कि जो भी व्यक्ति इबादत या पूजापाठ के लिए धार्मिक स्थलोे का रूख करेंगा। उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। निर्देशों का उल्लंघन करने वाले लोगों को जेलो में डाला जाएगा। किसी भी तरह की कोताही अब बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

कमिश्नर संजय कुमार, सहारनपुर के डीएम अखिलेश सिंह एवं एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने पत्रकारों को बताया कि इस तरह की शिकायते मिल रही है कि रोक और मनाही के बावजूद लोगोे ंने मस्जिदों मंे नमाज पढने के लिए जाना बंद नहीं किया है। जबकि सभी धर्मों के लोगो से बार-बार प्रशासन और धार्मिक गुरू घरो पर रहकर ही इबादत और पूजा करने की अपीले कर रहे है। कमिश्नर संजय कुमार ने कहा कि उन्होंने मंडल के तीनों जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों से कहा है कि यदि लोग नहीं मानते है तो धार्मिक स्थलो के प्रबंधको और वहां जाने वाले लोगो सभी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए। मस्जिदों के इमाम और मोज्जन भी निर्देशों का उल्लंघन करते है तो वे भी गिरफ्तार किए जाएंगे।

एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु ने कहा कि जनपद के सभी थाना प्रभारियों को इस पर नजर रखने और ठोस कार्रवाई करने के स्पष्ट निर्देश दिए गए है। उन्हांेने कहा कि कही भी किसी तरह की भीड-भाड और लोगोें का एक स्थान पर जमा होना कोरोना वायरस के संक्रमण को आमंत्रित करने जैसा है। जिसकी किसी को अनुमति नहीं दी जा सकती।

दारूल उलूम के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी और जमीयत उलमांए हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी मुस्लिम भाइयो से घरो पर नमाज अदा करने की अपील कर चुके है। ज्यादातर मुसलमानों ने घरो पर नमाज पढना शुरू कर दिया है। लेकिन 25-30 फीसद लोग उलेमा की अपील और पुलिस-प्रशासन के निर्देशों का उल्लघन कर रहे है। अब कोई ऐसा करता पाया जाएगा तो कानून अपना काम करेगा।

उधर जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने एसएसपी दिनेश प्रभु समेत पुलिस बल से आग्रह किया है कि वे डयूटी के दौरान लोगों के साथ किसी तरह का दुव्र्यवहार नही करे। यदि इस तरह की कोई शिकायत उनके संज्ञान में लाई जाएगी तो वो कार्रेवाई करेंगे। उन्होंने पिछले चार दिन के दौरान पाबंदियों का पालन करने के लिए सहारनपुर की जनता का आभार व्यक्त किया और कठिनाई के समय में जोखिम लेकर सेवा कर रहे सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों की कर्तव्यप्रायणता की सराहना की।

Share it