Top

ऐतिहासिक गुरूद्वारा साहिब श्री हरगोविंद साहिब पातशाही छवीं में 25 फरवरी से प्रांरभ होने वाले 4 दिवसीय सालाना समागम की तैयारी अपने आखिरी दौर में पंहुची

ऐतिहासिक गुरूद्वारा साहिब श्री हरगोविंद साहिब पातशाही छवीं में 25 फरवरी से प्रांरभ होने वाले 4 दिवसीय सालाना समागम की तैयारी अपने आखिरी दौर में पंहुची


दिल्ली, पंजाब व हरियाणा से कार्यक्रम में आने वाले संगतों ने भी गांव पंहुचना शुरू कर दिया है

देवबंद (गौरव सिंघल)। देवबंद के गांव पनियाली स्थित ऐतिहासिक गुरूद्वारा साहिब श्री हरगोविंद साहिब पातशाही छवीं में 25 फरवरी से प्रांरभ होने वाले 4 दिवसीय सालाना समागम की तैयारी अपने आखिरी दौर में पंहुच गई है। दिल्ली, पंजाब व हरियाणा से कार्यक्रम में आने वाले संगतों ने भी गांव पंहुचना शुरू कर दिया है। गुरूद्वारा साहिब की सेवा संभाल रहे बाबा रणजीत सिंह ने बताया कि सालाना समागम व संत बाबा अकाल पुरख सिंह जी की 50 वीं बरसी के उपलक्ष्य में संगतों द्वारा बीते 10 दिनों से श्री अखंड पाठ साहिब के पाठ लगातार हो रहे है।

25 फरवरी को संतों के स्थान पर श्री अखंड पाठ साहिब के पाठ की प्रारंभता के साथ सालाना समागम शुरू हो जायेगा जो 28 फरवरी को नगर कीर्तन व कीर्तन दरबार के साथ सम्पंन्न होगा। सालाना समागम की तैयारियां अपने अंतिम दौर में चल रही है। गांव व आसपास के इलाकें के संगतें तैयारियों को पूरा करने में अपना पूरा सहयोग दे रही है। गुरूद्वारा साहिब के आसपास दुकान लगाने वाले दुकानदारों ने भी पंहुचकर अपनी दुकानें सजाने प्रारंभ कर दी है। वही कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दिल्ली, पंजाब व हरियाणा की संगतों ने पनियाली पंहुचना शुरू कर दिया है। गुरूद्वारा कमेटी व गांव की संगतों ने गुरूद्वारा व अपने घरों में उन्हें ठहराने का उचित प्रबंध किया हुआ है। बाबा रणजीत सिंह ने बताया कि सालाना समागम में गांव पंहुचने वाली संगतों गांव के सभी धर्मों व वर्गों के लोग स्वागत करते है। इस दौरान चारों दिन सुबह शाम गुरू का अतूट लंगर बरताया जाता है। उन्होंने संगतों से कार्यक्रम में बढ-चढकर शामिल होने की अपील की है।

Share it