Top

सामूहिक दुराचार का मामला निकला फर्जी, पुलिस ने छात्रा, प्रेमी और उसके साथी को भेजा जेल

सामूहिक दुराचार का मामला निकला फर्जी, पुलिस ने छात्रा, प्रेमी और उसके साथी को भेजा जेल


फिरोजाबाद। पचोखरा थाना में तीन दिन पूर्व छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म की झूठी घटना बनाकर चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने का मामला पुलिस जांच में पूरी तरह से फर्जी पाया गया। छात्रा के हिस्ट्रीशीटर प्रेमी ने विरोधियों से बदला लेने के लिये अपने साथी व प्रेमिका के साथ सामूहिक दुराचार की झूठी साजिश रची थी। पुलिस ने शुक्रवार को इस मामले का खुलासा करते हुये आरोपित छात्रा, उसके प्रेमी व साथी के खिलाफ संगीन धाराओं में मामला दर्ज कर जेल भेज दिया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सचिन्द्र पटेल ने बताया कि थाना पचोखरा क्षेत्र अन्तर्गत चार दिसम्बर को पुलिस को एक छात्रा ने फोन कर अपने साथ सामूहिक दुराचार होने की सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और छात्रा को थाने ले आयी। जहां पूछताछ में छात्रा ने आरोप लगाया कि वह ट्यूशन पढ़ने जा रही थी, तभी उसके भाई के ही दोस्त उसे मिले, जिन्होंने भाई के एक्सीडेंट की झूठी सूचना उसे दी और फिर उसे कार में बैठाकर उसके साथ सामूहिक दुराचार करने के बाद उसे यहां फेंक दिया।

पुलिस ने छात्रा की तहरीर पर तीन नामजदों सहित चार लोगों के खिलाफ संगीन धाराओं में मामला दर्ज कर लिया। इधर मामला सामूहिक दुराचार का होने के कारण आईजी जोन आगरा ए सतीश गणेश ने तत्काल आगरा, फिरोजाबाद व हाथरस की टीमें लगाकर आरोपितों की गिरफ्तारी के निर्देश दिये। पुलिस ने तत्काल तीन नामजद आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया, जिनसे पूछताछ की गई तो उन्होंने आरोपों से इनकार कर दिया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पूछताछ में छात्रा बार-बार अपना ब्यान बदल रही थी, जिसको लेकर पुलिस को शक हो गया। इधर छात्रा के भाई ने भी नामजद आरोपितों को अपना दोस्त होने से इनकार कर दिया। पुलिस ने जब छात्रा से सख्ती से पूछताछ की तो उसने सच कबूलकर बताया कि उसने अपने हाथरस निवासी प्रेमी अनिल के कहने पर उसके विरोधियों को फंसाने के लिये यह झूठी घटना बनायी थी। पुलिस ने तत्काल छात्रा के प्रेमी अनिल व साजिश रचने वाले उसके साथी आगरा निवासी श्यामसुन्दर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने छात्रा उसके प्रेमी व साजिश रचने वाले साथी के खिलाफ संगीन धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर जेल भेजा है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर अनिल ने प्रेमिका को लालच देकर अपने जमीन विवाद के विरोधियों गीतम, सोनपाल, ज्ञानेन्द्र व राजा उर्फ रोबिन के खिलाफ झूठी सामूहिक दुष्कर्म की घटना बनवाकर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।


Share it
Top