Top

विद्युत चोरी रोकने हेतु जारी है 'क्लीन-अप' अभियान...ह्म् अभियान में 43915 बकायेदारों के किये संयोजन विच्छेदित, 2740.20 लाख की गयी राजस्व वसूली

विद्युत चोरी रोकने हेतु जारी है क्लीन-अप अभियान...ह्म् अभियान में 43915 बकायेदारों के किये संयोजन विच्छेदित, 2740.20 लाख की गयी राजस्व वसूली

मेरठ। पश्चिमांचल डिस्काम के मेरठ, नोएडा, सहारनपुर, बुलन्दशहर, मुरादाबाद एवं गाजियाबाद के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 1 जून से ग्रामीण वितरण क्षेत्रों के 50 प्रतिशत से अधिक एवं शहरी क्षेत्रों के 30 प्रतिशत से अधिक 11 के०वी० 431 हाई लॉस फीडरों पर अधिक भार वाले उपभोक्ताओं की चैकिंग हेतु 'क्लीन-अप' अभियान प्रतिदिन व्यापक स्तर पर चलाया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि प्रबन्धन द्वारा अधिकारियों को प्राथमिकता के आधार पर 'क्लीन-अप' अभियान में तेजी लाने के निर्देश पूर्व मे ही दिये जा चुके है। अभियान में चिन्हित किये गये फीडरों पर इनर्जी ऑडिट के आधार पर, चिन्हित कम उपभोग वाले संदिग्ध विद्युत उपभोक्ताओं के परिसरों पर, मीटर की चेकिंग तथा विद्युत चोरी की रोकथाम के लिए रेड्स तथा मीटर टेम्परिंग/छेड़छाड़ इत्यादि पाये जाने पर, नियमानुसार अपराधिक मामला भी दर्ज कराया जा रहा है। डिस्काम के अन्र्तगत ग्रामीण क्षेत्रों में कुल रू० 5000 से अधिक राशि के 29767 बकायेदारो के संयोजन विच्छेदित किये गये एवं 981.70 लाख की राजस्व वसूली की गयी। आईडेन्टिव डिफेक्टिव (आई०डी०एफ०) मीटर के प्रकरणों में 7256 नये मीटर बदले गये। अभियान में 1537 कनेक्शनों के विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी।

शहरी क्षेत्रों के अन्र्तगत रू० 10,000 से अधिक बकायेदारों के 14148 संयोजन मौके पर विच्छेदित किये गये एवं 1758.50 लाख की राजस्व वसूली की गयी। अभियान में 814 कनेक्शनों के विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी। आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक, पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, मेरठ द्वारा बकायेदार उपभोक्ताओं से अपील की गयी है कि किसी अप्रिय कार्यवाही से बचने के लिये अपना बकाया तुरन्त जमा करायें। 'क्लीन-अप' अभियान जारी हैं। संदिग्ध उपभोक्ताओं पर आकस्मिक चेकिंग कराई जा रही है। बकायेदार जिन्होनें बिल जमा नही किया है, को सम्मिलित करते हुए सभी बकायेदारों से वसूली हेतु विद्युत विच्छेदन की कार्यवाही की जा रही है।

Share it