Top

मेरठ के सर्राफ अमन जैन हत्या और लूट काण्ड का खुलासा, दोस्त ने ही कराई थी लूट, पहचाने जाने पर की थी हत्या, सवाल भी उठने शुरू, विरोध प्रदर्शन हुआ

मेरठ के सर्राफ अमन जैन हत्या और लूट काण्ड का खुलासा, दोस्त ने ही कराई थी लूट, पहचाने जाने पर की थी हत्या, सवाल भी उठने शुरू, विरोध प्रदर्शन हुआ

मेरठ, 17 सितम्बर । जागृति विहार के चर्चित अमन सर्राफ हत्याकांड में बुधवार की देर रात पुलिस ने दो हत्यारोपितों को मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। एक बदमाश गोली लगने से घायल हो गया। जबकि तीन बदमाश फरार हो गए। पुलिस को मौके से एक बाइक, तमंचा, पांच लाख रुपए की नकदी और चांदी की ज्वेलरी बरामद हुई।

जागृति विहार सेक्टर 2 निवासी अमन जैन की बदमाशों ने हत्या करके दस लाख रुपए नकद और आभूषण लूट लिए थे। इसके बाद से ही पुलिस की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में थे। यह हत्याकांड सपा और भाजपा नेताओं के बीच टकराव का कारण बन गया था। व्यापारी संगठनों में भी हत्याकांड के विरोध में बाजार बंद कराने को लेकर मारपीट हो गई थी। एसओ मेडिकल को भी निलंबित कर दिया गया था।

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि पुलिस मामले की लगातार जांच में जुटी थी। बुधवार की देर रात मेडिकल व नौचंदी पुलिस और एसटीएफ जागृति विहार एक्सटेंशन में चेकिंग कर रही थी। उसी समय दो बाइकों पर सवार बदमाश आए। पुलिस के घेराबंदी करने पर बदमाशों ने फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग में एक बदमाश घायल हो गया और एक बदमाश को पुलिस ने दबोच लिया। मौका पाकर तीन अन्य बदमाश फरार हो गए। घायल बदमाश की पहचान अनुज शर्मा निवासी कसेरू बक्सर और पकड़े बदमाश की पहचान तरुण ठाकुर निवासी के ब्लाॅक शास्त्रीनगर के रूप में हुई। एसएसपी ने बताया कि तरुण ज्वेलर अमन का दोस्त है। तरुण ने ही ज्वेलर की दुकान की रेकी करके अपने दोस्त अनुज के साथ मिलकर लूट की साजिश रची थी। इस काम में अनुज ने मुंडाली और भावनपुर के अपने दो साथियों को साथ लिया। जैसे ही बदमाशों ने शोरूम पर धावा बोला तो घर से बाहर निकले अमन ने तरुण को पहचान लिया। इसके बाद अमन की हत्या कर दी गई। घायल बदमाश को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मुआवजा देने की मांग उठ रही

अमन के पिता सतीश चंद जैन को मुआवजा देने की मांग लगातार उठ रही है। भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनीत अग्रवाल शारदा ने मुख्यमंत्री से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग उठाई है।

अनुज के परिजनों ने पुलिस पर लगाया फर्जी मुठभेड़ का आरोप!

इसी बीच पुलिस द्वारा किए गए खुलासे को लेकर गिरफ्तार किए गए आरोपित के परिजनों ने जिले की पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं। आरोपित के परिजनों का आरोप है कि बुधवार को युवक को घर से उठाकर ले गई क्राइम ब्रांच ने फर्जी मुठभेड़ दिखाकर उसे गिरफ्तार किया है।

बताते चलें कि अमन जैन हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने बुधवार की देर रात मृतक के दोस्त शास्त्रीनगर निवासी तरुण और कसेरू बक्सर निवासी अनुज उर्फ बंटी को गिरफ्तार किया है। इस दौरान मुठभेड़ में पैर में गोली लगने से तरुण घायल हुआ है। गुरुवार को अनुज उर्फ बंटी की मां संतोष के साथ परिवार की महिलाओं ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया।

अनुज की मां ने पुलिस पर अपने बेटे को फंसाए जाने का आरोप लगाया है। संतोष का कहना है कि बुधवार को आधा दर्जन कारों में सवार क्राइम ब्रांच के पुलिसकर्मी उसके घर पर आए थे। इसके बाद चाली बल्ली का काम करने वाले उसके बेटे को घर से उठाकर ले गए। संतोष ने घटना की सीसीटीवी फुटेज भी मीडिया को सौंपी। इसी के साथ अपने बेटे को निर्दोष बताते हुए पुलिस पर उसे फंसाए जाने का आरोप लगाया। हालांकि अधिकारी इन आरोपों को सिरे से खारिज कर रहे हैं।

Share it