Top

मेरठ में प्रस्तावित स्पोर्टस यूनीवर्सिटी का नाम धन सिंह कोतवाल के नाम पर रखने की मांग

मेरठ में प्रस्तावित स्पोर्टस यूनीवर्सिटी का नाम धन सिंह कोतवाल के नाम पर रखने की मांग

अमरोहा 22 मई -उत्तर प्रदेश के मेरठ में प्रस्तावित स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी तथा मुरादाबाद पुलिस ट्रेनिंग कालेज का नाम प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के महानायक धन सिंह कोतवाल गुर्जर के नाम पर रखने की मांग जोर पकड़ने लगी है।

मेरठ के जिला पंचायत अध्यक्ष और पथिक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुखिया गुर्जर ने राज्य सरकार से मांग की है कि लखनऊ की जगह मेरठ में बनने वाली स्पोर्टस यूनिवर्सिटी का नाम देश की प्रथम क्रान्ति के महानायक कोतवाल धनसिंह गुर्जर के नाम पर रखा जाये।

पिछले तीन दशकों से देश भर में गुर्जर समाज की समस्याओं एवं सामाजिक चेतना के लिए मुखर रहे गुर्जर समाज के राष्ट्रीय नेता मुखिया गुर्जर ने 1857 की क्रांति के महानायक धन सिंह कोतवाल को सम्मान देने के लिए मुहिम शुरू की हुई है। उन्होंने शुक्रवार को वेबीनार के जरिये गुर्जर समाज के प्रबुद्ध सरदारों को संबोधित किया। अमरोहा से डॉ यतींद्र कटारिया विद्यालंकार ने संचालन किया

मुखिया गुर्जर ने कहा कि मेरठ जिला के पाचंली खुर्द के निवासी और शहर की सदर कोतवाली में कोतवाल पद पर तैनात धनसिंह गुर्जर ने 10 मई 1857 ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विद्रोह कर स्वतन्त्रा संग्राम का आगाज़ किया था । मेरठ कारागार पर धावा बोल कर 839 कैदियों को रिहा कराया और शस्त्र लूट कर दर्जनो अंग्रेजो को मौत के घाट उतार दिया था फिर जत्थे के रूप में दिल्ली के लिए कूच कर गए जिससे विद्रोह की चिंगारी पूरे देश में फैल गयी थी । इस संग्राम में कोतवाल धनसिंह गुर्जर सहित हजारों लोगों की शहादत हुई ।

उन्होंने कहा कि आज तक महान सेनानी धनसिंह की उपेक्षा की गई। पथिक सेना के बैनर तले 1998 में उनकी मूर्ति स्थापना के लिये आन्दोलन चलाया गया तब मवाना अड्डे पर मूर्ति स्थापित हो सकी । 2018 में भाजपा सरकार आने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्य नाथ के सहयोग से सदर कोतवाली में मूर्ति स्थापित हो सकी है। उन्होंने कहा कि अब लाकडाउन के बाद समाज का एक प्रतिनिधि मण्डल मुख्यमंत्री से मिल कर माँग करेगा कि मेरठ में बनने वाली स्पोर्टस यूनिवर्सिटी का नाम कोतवाल धनसिंह गुर्जर के नाम पर रखा जाये।

मुखिया गुर्जर ने कहा कि इसके साथ मुरादाबाद के पुलिस ट्रेनिंग स्कूल का नाम भी कोतवाल धन सिंह गुर्जर के नाम पर रखा जाए, ताकि पुलिस प्रशासन अपने उस अधिकारी के व्यक्तित्व कृतित्व को समझ सके जिसने राष्ट्र की खातिर अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया था।

Share it