Top

मेरठ- गंगा यात्रा में दिखी हिंदू मुस्लिम एकता

मेरठ- गंगा यात्रा में दिखी हिंदू मुस्लिम एकता


मेरठ । केंद्र सरकार की नमामि गंगे परियोजना के तहत गंगा की साफ सफाई करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से निकाली जा रही गंगा यात्रा में लोगों ने मंगलवार को हिन्दू मुस्लिम एकता की अनूठी मिसाल पेश की और इस गंगा यात्रा में सभी धर्मों के लोग बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। यहां किठौर गांव से जब गंगा यात्रा निकली तो हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों ने फूल बरसा कर यात्रा के रथ का शानदार स्वागत किया।

स्टार अल फलाह इंटर कॉलेज के छात्र और छात्राएं गंगा यात्रा का स्वागत करने के लिए महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस और भगत सिंह के अलावा अन्य स्वतंत्रता सेनानियों की वेशभूषा में सुबह से ही तैयार खड़े थे। सभी के हाथों में राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा था। गंगा यात्रा के रथ के यहां से गुजरने पर छात्र और छात्राओं ने 'गंगा मैया की जय' के नारे के साथ इसका स्वागत किया।

गंगा यात्रा का स्वागत करने वालों में बच्चों और महिलाओं के अलावा बुजुर्ग भी पूरे उत्साह के साथ शामिल रहे। इस यात्रा में हिन्दू-मुस्लिम सौहार्द की अलग तस्वीर देखने को मिल रही है। जिस स्थान से भी यात्रा गुजर रही है, वहां हिन्दू और मुस्लिम समुदाय के लोग साथ में यात्रा पर पुष्प वर्षा कर रहे हैं। जहां जहां से यह यात्रा निकाल रही है हर जगह स्कूली बच्चे 'भारत माता की जय', वन्दे मातरम् और जय गंगा मैया के नारों के साथ इसका स्वागत कर रहे हैं।

गौरतलब है कि गंगा यात्रा का पहला रथ 27 जनवरी को बिजनौर से और दूसरा रथ बलिया से रवाना हो चुका है। इसके बाद 31 जनवरी को दोनों रथ कानपुर पहुंचेंगे। बिजनौर और बलिया से आरंभ होने वाली दोनों ही यात्राओं का समागम कानपुर में 31 जनवरी को होगा। गंगा यात्रा 1358 किलोमीटर की दूरी तय करेगी जिसमें यह 1038 ग्राम पंचायतों , 1650 गांव , 21 नगर निकाय और जनपदों से होकर गुजरेगी।

Share it