Top

अयोध्या प्रकरण में फैसले से पहले हिंदू संगठनों ने ली शांति की जिम्मेदारी

अयोध्या प्रकरण में फैसले से पहले हिंदू संगठनों ने ली शांति की जिम्मेदारी


मेरठ)। अयोध्या में विवादित ढांचे को ध्वस्त किए जाने को लेकर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले गुरुवार को पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने हिंदू संगठनों के नेताओं के साथ बैठक की। इस दौरान सभी लोगों ने अदालत के फैसले का सम्मान करने और जिले में भाईचारा और अमन चैन कायम रखने में सहयोग देने का वादा किया।

पुलिस लाइन में आयोजित बैठक में आईजी आलोक कुमार, डीएम अनिल धींगरा और एसएसपी अजय साहनी मौजूद रहे। बैठक में बजरंग दल के पदाधिकारी बलराज डूंगर और भाजपा के वरिष्ठ नेता कमल दत्त शर्मा सहित कई हिंदू संगठनों से जुड़े पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि शामिल हुए। कमल दत्त शर्मा ने दावा किया कि फैसला चाहे जो भी आए सभी लोग उसका पूरा सम्मान करेंगे। इसी के साथ भाजपा कार्यकर्ता अपने-अपने क्षेत्रों में घूमकर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करेंगे। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि बैठक में शामिल सभी लोगों का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है। अदालत के फैसले के बाद सभी व्यक्ति अपने क्षेत्रों में नजर रखेंगे और अफवाह फैलाने वाले किसी भी व्यक्ति की सूचना तत्काल इस ग्रुप पर डाली जाएगी। बजरंग दल के नेता बलराज डूंगर ने अदालत के हर फैसले का सम्मान करने की बात कहते हुए हिंदुओं को शांत स्वभाव का बताया। उन्होंने कहा कि यह हिंदू समाज के शांत स्वभाव का ही परिणाम है कि साढ़े चार सौ वर्षों से हिंदू समाज इस मुद्दे का परिणाम ना निकलने पर भी शांति साधे बैठे हुए है। इसी के साथ यह भरोसा भी जताया कि अदालत का फैसला संभवतः हिंदू समाज के पक्ष में आएगा। वहीं जिलाधिकारी अनिल धींगरा ने जिले के सभी लोगों से फैसले के बाद शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की। इसी के साथ उपद्रवियों के साथ सख्ती से निपटने के संकेत दिए।


Share it