Top

पिलखुआ पुलिस की हिरासत में युवक की मौत, अस्पताल में शव छोड़कर भागे पुलिसकर्मी

पिलखुआ पुलिस की हिरासत में युवक की मौत, अस्पताल में शव छोड़कर भागे पुलिसकर्मी


मेरठ। हापुड़ जनपद के पिलखुआ में पुलिस की हिरासत में एक युवक की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है निर्दोष युवक को पुलिस चैकी के भीतर थर्ड डिग्री देते हुए उसके साथ मारपीट की गई और हालत बिगड़ने पर पुलिसकर्मी उसे मेरठ के मेडिकल में छोड़कर फरार हो गए। सोमवार को गुस्साए परिजनों ने मेडिकल से लेकर कमिश्नरी तक हंगामा करते हुए क्षेत्र के सीओ सहित सभी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। किसान नेताओं की मौजूदगी में परिजनों का कमिश्नरी पर धरना चल रहा है।

पूर्व ग्राम प्रधान अजीत तोमर ने बताया कि रविवार को पिलखुआ कोतवाली की पुलिस ने पिलखुआ कस्बे के रहने वाले कुलदीप नाम के युवक को लकी ड्रॉ का कूपन निकलने का झांसा देकर सड़क पर बुलाया था। आरोप है कि इसके बाद पुलिसकर्मी कुलदीप को कार में डालकर अपने साथ छजारसी चैकी पर ले गए। जहां कुलदीप से उसके भाई प्रदीप को कॉल कराई गई और प्रदीप को भी चैकी पर बुला लिया गया। ग्रामीणों का आरोप है कि इसके बाद पुलिस ने चैकी के भीतर प्रदीप की बेरहमी से पिटाई की। इस दौरान मामले की जानकारी मिलने पर क्षेत्र के लोग चैकी पर पहुंचे तो पुलिसकर्मियों ने लाठियां फटकार कर उन्हें वहां से खदेड़ दिया। रविवार की देर रात पुलिस की पिटाई के चलते प्रदीप की हालत बिगड़ गई, जिसके बाद पुलिसकर्मी अधमरी हालत में पहुंचे प्रदीप को लेकर मेरठ मेडिकल काॅलेज लेकर पहुंचे। देर रात उपचार के दौरान प्रदीप की मौत हो गई जिसके बाद पुलिसकर्मी प्रदीप के शव को मेडिकल में छोड़कर फरार हो गए। सोमवार सुबह मेडिकल के स्टाॅफ द्वारा परिजनों को घटना की जानकारी दी गई तो परिजनों में कोहराम मच गया।

जिसके बाद परिजन और सैकड़ों ग्रामीण मेडिकल पहुंचे और पुलिस पर प्रदीप की हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान मेडिकल पुलिस और ग्रामीणों के बीच तीखी नोकझोंक हुई। गुस्साए परिजनों ने आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर कमिश्नरी में डेरा डाल दिया। उन्होंने क्षेत्राधिकारी पिलुखवा सहित सभी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए जमकर हंगामा किया। लोगों का गुस्सा देखकर मेडिकल काॅलेज और कमिश्नरी पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। दोपहर तक भी लोगों का हंगामा चल रहा था।

इंस्पेक्टर को किया निलंबित

हापुड़ के पुलिस अधीक्षक डाॅ. यशवीर सिंह ने इस मामले के तूल पकड़ने पर पिलखुआ इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया। जबकि चैकी इंचार्ज और दो अन्य पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया।

Share it