Top

महिला कांस्टेबल तक सुरक्षित नहीं तो कैसा मिशन शक्ति: संजय सिंह

महिला कांस्टेबल तक सुरक्षित नहीं तो कैसा मिशन शक्ति: संजय सिंह

लखनऊ - आम आदमी पार्टी (आप) सांसद संजय सिंह ने महिला सुरक्षा के लिए योगी सरकार के मिशन शक्ति पर तंज कसते हुये कहा कि इस मिशन का सन्देश है कि भाजपा के नेता महिलाओं की आबरू और इज्जत को तार-तार करने के लिए अपनी शक्ति दिखायें।

श्री सिंह ने पत्रकारों से कहा कि लखीमपुर खीरी में महिला कांस्टेबल के साथ भाजपा का नेता छेड़खानी करता है। कांस्टेबल उस आरोपी को थाने लेकर आती है तब भाजपा का एक विधायक दल बल के साथ थाने पहुंच कर हंगामा करता है और कार्यकर्ता को जबरन छुड़ा कर ले जाता है। ये योगी सरकार के मिशन शक्ति का सबसे ज्वलंत उदारण है। योगी आदित्यनाथ जिस महिला पुलिस के दम पर मिशन शक्ति चलाने का दावा करते हैं, जब वो महिला पुलिस ही सुरक्षित नहीं तो योगी जी कौन से मिशन और शक्ति की बात कर रहे हैं।

राज्यसभा सांसद ने कहा कि हाथरस मामले में फटकार खायी योगी सरकार और पुलिस प्रशासन को हाई कोर्ट का भी कोई खौफ दिखाई नहीं दे रहा है क्योंकि बाराबंकी में फिर से हाथरस जैसी घटना दोहराई जाती है । बाराबंकी में एक दलित बच्ची की दुराचार के बाद हत्या कर दी गई। उसके शव के साथ भी वही बर्बरता दिखयी गयी|

उन्होंने आरोप लगाया कि श्री योगी के राज में जाति देख कर हत्या और बलात्कार के मामले में न्याय होता है। बलात्कारी अगर किसी जाति विशेष का है तो योगी की पूरी सरकार उसके साथ खड़ी हो जाती है। बलिया में एसडीएम और सीओ के सामने दिनदहाड़े सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी जाती है। बेशर्मी देखिए कि सरकार और उसके विधायक उसको बचाने में जुट गए।

उन्होंने आरोप कहा की बेटियों के लिए योगी आदित्यनाथ की सरकार कब्रगाह बन गई है।

Share it