Top

किसी भी भ्रष्टाचारी को बख्शा नहीं जाएगा, बस्ती में भ्रष्टाचार के दोषी अधिशासी अभियन्ता की सम्पत्ति होगी जब्त : योगी

किसी भी भ्रष्टाचारी को बख्शा नहीं जाएगा, बस्ती में भ्रष्टाचार के दोषी अधिशासी अभियन्ता की सम्पत्ति होगी जब्त : योगी

लखनऊ - उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टालरेंस की नीति पर कायम है और बस्ती में सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार के दोषी पाए गए अधिशासी अभियन्ता की सम्पत्ति जब्त करने के निर्देश दिये जा चुके हैं।

श्री योगी ने बस्ती मंडल के विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में राज्य सरकार की जीरो टाॅलरेंस नीति है। भ्रष्टाचार में संलिप्त पाए गए लोगों के खिलाफ प्रदेश सरकार कड़ी कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है। बैठक में प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग ने बताया कि सम्बन्धित अधिशासी अभियन्ता को पूर्व में ही सेवा से बर्खास्त भी किया जा चुका है।

उन्होने कहा कि कोरोना की चुनौती का सामना करते हुए सभी सावधानियां बरतकर विकास कार्यों को आगे बढ़ाने के जरूरत है। विकास परियोजनाओं को समयबद्ध ढंग से पूरा किए जाने पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इससे लागत में कमी आती है और जनता को समय से इनका लाभ प्राप्त होता है।

श्री योगी ने कहा कि सिद्धार्थनगर तथा संत कबीर नगर पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं। इन जिलों में पर्यटन विकास की व्यापक सम्भावनाएं हैं। इसी प्रकार बस्ती जिले में मखौड़ा धाम आदि के पर्यटन विकास की योजना भी बनायी जाए। उन्होंने सिद्धार्थनगर में बौद्ध सर्किट के तहत गेस्ट हाउस तथा बुद्ध थीम पार्क के निर्माण में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने सिद्धार्थनगर मेडिकल काॅलेज के निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच एक टीम भेजकर कराए जाने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि सिद्धार्थनगर में जल निगम के कार्यों की जांच प्रबन्ध निदेशक जल निगम की अध्यक्षता में गठित टीम के माध्यम से करायी जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 'एक जिला, एक उत्पाद' योजना के तहत बस्ती मण्डल के जिलों के परम्परागत विशिष्ट उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए प्रभावी कार्य योजना तैयार की जाए। सिद्धार्थनगर में काला नमक चावल की खेती को जीरो बजट खेती से जोड़कर इसे बढ़ावा दिया जा सकता है।

उन्होने कहा कि काेरोना की कोई कारगर दवा अथवा वैक्सीन विकसित नहीं हो जाती, तब तक बचाव ही सबसे अच्छा उपाय है। उन्होंने एल-2 कोविड चिकित्सालयों की संख्या बढ़ाने, इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को 24 घण्टे क्रियाशील रखने तथा काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग के कार्य को तेजी से संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

श्री योगी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव व सुरक्षा के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किया जाए। इसके लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों का उपयोग किया जाए। स्वास्थ्य विभाग, परिवहन विभाग तथा पुलिस द्वारा पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से कोविड-19 से सुरक्षा तथा यातायात सुरक्षा के सम्बन्ध में लोगों को जागरूक किया जाए। स्वच्छता कार्यक्रम को प्रभावी बनाया जाए। प्लास्टिक के उपयोग को रोकने के लिए प्रभावी प्रवर्तन की कार्यवाही की जाए।

बैठक में मुख्यमंत्री को बताया गया कि बस्ती मण्डल में 50 करोड़ रुपए से अधिक लागत की चार परियोजनाएं हैं। इनमें बस्ती की 01, संत कबीर नगर की 01 तथा सिद्धार्थनगर की 02 परियोजनाएं शामिल हैं। बस्ती में महर्षि वशिष्ठ मेडिकल काॅलेज के निर्माण कार्य की भौतिक प्रगति 91 प्रतिशत है। सिद्धार्थनगर में राजकीय मेडिकल काॅलेज का निर्माण कार्य प्रगति पर है। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय, कपिलवस्तु भी तेजी से निर्माणाधीन है। संत कबीर नगर में संत कबीर अकादमी की स्थापना करायी जा रही है। इस परियोजना का 55 प्रतिशत कार्य सम्पादित हो चुका है। आजमगढ़-गोरखपुर पूर्वांचल लिंक एक्सप्रेस-वे मण्डल के संत कबीर नगर में आंशिक रूप से गुजरेगा।

Share it