Top

फिरोजाबाद में आये थे बड़े व्यापारी की हत्या करने, आजमगढ़ के दो सुपारी किलर हुए गिरफ्तार

फिरोजाबाद में आये थे बड़े व्यापारी की हत्या करने, आजमगढ़ के दो सुपारी किलर हुए गिरफ्तार

फिरोजाबाद, 1 अगस्त । थाना सिरसागंज पुलिस व एसओजी टीम ने शुक्रवार की रात पांच लाख की सुपारी लेकर जनपद के एक प्रतिष्ठित व्यापारी की हत्या करने आये आजमगढ़ के दो सुपारी किलरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने इनके कब्जे से अबैध तमंचा, कारतूस व कार बरामद की है। व्यापारी की हत्या की साजिश गोरखपुर जेल में बंद फिरोजाबाद के एक हत्यारोपी ने रची थी। पुलिस ने शनिवार को वार्ता कर खुलासा किया है।

एसएसपी सचिन्द्र पटेल ने बताया कि शुक्रवार की रात्रि पुलिस टीम को सूचना मिली कि कुछ लोग गैर जनपद से जनपद में हत्या की घटना कारित करने के उद्वेश्य से आ रहे है। इस सूचना पर एसओजी प्रभारी कुलदीप सिंह अपनी टीम के साथ सिरसागंज के नगला राधे मोड़ पर पहुंच गये और सिरसागंज प्रभारी गिरीश कुमार गौतम व पुलिस टीम के साथ वाहनों की चेकिंग करना शुरू कर दी। चेकिंग के दौरान इटावा की तरफ से सिरसागंज की तरफ एक आई-10 कार आती दिखाई दी। जब पुलिस ने उसे रोकने का प्रयास किया तो उसमें सवार लोगों ने खिड़की खोलकर भागने का प्रयास किया। पुलिस ने घेराबंदी करते हुये गाड़ी से उतरे दोनों व्यक्तियों को पकड़ लिया। तलाशी लेने पर इनके पास से अवैध असलहा बरामद हुये।

एसएसपी ने बताया कि पकड़े गये अभियुक्त आशीष उर्फ दंगल यादव और संदीप यादव आजमगढ़ जनपद के निवासी हैं। इन्होंने बताया कि हमारा एक साथी प्रिंस जायसवाल गोरखपुर जेल में बंद है। उसके साथ ही फिरोजाबाद जनपद का रहने वाला हत्या का अभियुक्त देवेन्द्र भी बंद है। फिरोजाबाद में वर्ष 2014 में 40 हजार रूपये की लूट के साथ ही एक हत्या की घटना कारित हुई थी। जिसमें गोरखपुर जेल में बंद देवेन्द्र का भाई शिवा भी जेल गया था। इस लूट व हत्या के मुकदमे की पैरवी जनपद का एक प्रतिष्ठित व्यवसायी द्वारा की गई थी। देवेन्द्र को लगता है कि इस व्यवसायी के कारण ही इस लूट व हत्या के मुकदमे में राजीनामा नही हो पा रहा है जिसके कारण उसके भाई शिवा को सजा हो सकती है।

एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों ने पुलिस को बताया कि इसीलिये देवेन्द्र अपने भाई शिवा को सजा से बचाने के लिये प्रतिष्ठित व्यवसायी की हत्या कराना चाहता है। उसने अपने साथ ही गोरखपुर जेल में बंद प्रिंस जायसवाल को पांच लाख रूपये में हत्या की सुपारी तय की। प्रिंस के ​कहने पर हम लोग यहां पर व्यापारी की हत्या करने आये थे।

Share it