Top

वायरल वीडियो पर मुख्यमंत्री की टीम ने लिया संज्ञान, शिकायतकर्ता के लिए सोशल मीडिया बनी वरदान

वायरल वीडियो पर मुख्यमंत्री की टीम ने लिया संज्ञान, शिकायतकर्ता के लिए सोशल मीडिया बनी वरदान

सीतापुर, )। पिछले दाे साल से आवास पाने को अधिकारियों के चक्कर लगा रहे निराश पात्र के लिए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की सोशल मीडिया टीम वरदान साबित हुई है। अब अगर सबकुछ ठीक रहा तो शिकायतकर्ता को पक्की छत मुहैया हो जाएगी।

मामला खैराबाद विकासखंड के ग्राम चितहरी गद्दीपुर निवासी नन्द लाल पाण्डेय का है। उनका मकान 2 जुलाई 2018 में बारिश में गिर गया था। मकान गिरने के बाद उनको तत्काल आपदा राहत कोष से 3200 रुपये दिए गए। उसी दौरान उनको अधिकारियों ने पक्का मकान देने का भी आश्वासन दिया था। लेकिन बाद में अधिकारी अपनी ही बात से इस कदर मुकरे कि अभी तक नन्द लाल को पक्की छत नहीं नसीब हुई है। छप्पर, पन्नी के कच्चे मकान ने बारिश में तालाब का रूप लेना शुरू कर दिया। नन्दलाल अपने बेटे बृजकिशोर को लेकर कभी ब्लॉक, कभी विकासभवन तो कभी तहसील पहुंच अधिकारियों की मनुहार करते रहे, लेेकिन पत्थर दिल अधिकारी नहीं पसीजे।

इसी बीच किसी ने सरकारी मशीनरी से आहत बृज किशोर की इस समस्या का वीडियो बनाकर सोशलमीडिया पर वायरल कर दिया। वायरल वीडियो को मुख्यमंत्री की सोशल मीडिया टीम ने संज्ञान में लिया।

सीएम कार्यालय से आया फोन, हरकत में आए अधिकारी

वीडियो वायरल होने के बाद सीएम कार्यालय से डीएम अखिलेश तिवारी के पास फोन आया। निर्देश हुए कि नन्द लाल की समस्या को निस्तारित कराया जाए। डीएम ने तत्काल एसडीएम सदर अमित भट्ट को मौके पर पात्र की शिकायत को संज्ञान में लेने को कहा। डीएम के निर्देश पर वह तत्काल नन्द लाल पाण्डेय के गांव चितहरी पहुंचे। उन्होंने शिकायतकर्ता की उच्च अधिकारियों से बातचीत कराकर आवास उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

बीडीओ व पीडी के व्यवहार से आहत हैं नन्द लाल

आवास के लिए अधिकारियों के चक्कर लगाने वाले नन्द लाल पाण्डेय, पीडी अरुण कुमार सिंह व बीडीओ संजय सिंह के कार्य व्यवहार व उनकी बातों से बहुत आहत हैं। नन्द लाल पाण्डेय के पुत्र बृज किशोर पाण्डेय ने बताया कि आवास के लिए जब वह बीडीओ संजय सिंह से मिले तो उन्होंने कहा पीडी से मिलो। जब मैं पीडी अरुण सिंह के पास पहुंचा तो उन्होंने कहा तुम्हारा नाम आवास सूची में नहीं है। इसलिए आवास नहीं मिलेगा, तुम्हारा संघर्ष बेकार है।

एसडीएम ने सुनी पर बीडीओ ने दुत्कारा

बृज किशोर ने बताया कि पीडी के यहां से निराश होकर एसडीएम अमित भट्ट से मिला। उन्होंने शिकायत सुनी और बीडीओ को आवास देने के लिए कहा। लेकिन बीडीओ संजय सिंह ने एसडीएम के आदेश को भी नहीं माना, वही रटा रटाया जवाब देकर वापस कर दिया।

एक सप्ताह में मिलेगा आवास- एसडीएम

इस मामले पर एसडीएम अमित भट्ट ने बताया कि डीएम के निर्देश पर मैंने स्थलीय निरीक्षण किया है। रिपोर्ट बनाकर ग्राम विकास आयुक्त के यहां भेजी जा रही है। एक सप्ताह के भीतर नन्द लाल की समस्या का समाधान करा दिया जाएगा।

Share it