Top

बुलंदशहर में वकील की हत्या, 70 लाख हडपने के लिए दोस्त ने ही डिनर पर बुलाकर मार दिया, शव बरामद,आरोपी गिरफ्तार

बुलंदशहर में वकील की हत्या, 70 लाख हडपने के लिए दोस्त ने ही डिनर पर बुलाकर मार दिया, शव बरामद,आरोपी गिरफ्तार

बुलंदशहर, 01अगस्त- उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर के खुर्जा नगर से लापता वकील की हत्या उसी के एक मित्र द्वारा किये जाने का मामला प्रकाश में आया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने शनिवार को यहां बताया कि गत 25 जुलाई को वकील धर्मेंद्र चौधरी लापता हो गया था। खुर्जा थाने में इस मामले की रिपोर्ट दर्ज की गयी थी। उन्होंने बताया कि छानबीन में पता चला कि विवेक उर्फ विक्की नामक व्यक्ति का मृतक के परिवार से इतना घनिष्ठ संबंध था। जब से धर्मेन्द्र चौधरी लापता था तब से लगातार यह व्यक्ति मृतक के परिवार के साथ इनकी खोजबीन में लगने के साथ-साथ पुलिस सहायता में भी लगा था, ताकि किसी को शक न हो।

उन्होंने बताया कि पुलिस को छानबीन में पता चला कि उसके मित्र विवेक ने उसे 25 जुलाई को अपने घर डिनर पर बुलाया। अपने दो नौकरों की सहायता से उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। शव को अपने ही परिसर में दफना दिया था। यह हत्या सूद पर लगाये गये 70 लाख रूपये को हड़पने की नियत से की गई है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ​ने बताया कि कोतवाली खुर्जा क्षेत्र में रहने वाले 37 वर्षीय अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी 25 जुलाई को लापता हो गये थे। परिजनों ने कोतवाली में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी। पुलिस ने खोजबीन शुरू की तो उनकी मोटरसाइकिल गांव खबरा के पास जंगल से लावारिस हालत में मिली थी। इसके बाद परिवार ने किसी अनहोनी ​की आशंका जताई।

इधर मुखबिर तंत्र से पता चला कि अधिवक्ता की हत्या कर दी गयी है और उसका शव टाइल्स फैक्टरी की जमीन में दफन है। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने जांच की और फैक्टरी के जमीन की खुदाई कर लापता अधिवक्ता का शव बरामद कर लिया है। उसकी धारदार हथियार से हत्या की गयी और पहचान छिपाने के लिए शव को जलाने का प्रयास भी किया गया हैं।

एसएसपी का कहना है कि प्राथमिक जांच में पता चला है कि अधिवक्ता का खुर्जा निवासी टाइल्स फैक्टरी मालिक विवेक उर्फ विक्की के साथ रुपयों के लेनदेन को लेकर विवाद था। इसी विवाद के चलते अधिवक्ता को फैक्टरी में बुलाने के बाद उसकी हत्या की गयी है। पुलिस ने हत्या के आरोप में टाइल्स फैक्टरी मालिक और उसके दो नौकरों को हिरासत में लिया है। उन्होंने बताया कि हत्यारोपित पहले दिन से ही पुलिस के साथ लापता अधिवक्ता को तलाशने में मदद कर रहा था, इस वजह उस पर ध्यान नहीं गया था। फिलहाल पूछताछ की जा रही है, जल्द ही खुलासा किया जायेगा।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मृतक धर्मेन्द्र हालांकि वकील व्यवसाय में पंजीकृत हैं लेकिन वास्तव में प्रॉपर्टी डिलिंग का काम करता था। पुलिस-प्रशासन द्वारा खुफिया अन्दाज से जांच कर लाइ-डिटेक्टर टेस्ट, ड्रोन कैमरा आदि का प्रयोग कर केस का खुलासा करते हुए उनके दफनाये गये शरीर को बरामद कर लिया गया। जिससे यह पता चला कि यह अपरहण नहीं बल्कि हत्या का स्पष्ट मामला है। पुलिस ने आराेपी विवेक उर्फ विक्की को गिरफ्तार कर लिया है। गौरतलब है कि गत छह दिन से रहस्यमय ढ़ंग से गायब इस घटना के मामले में आईजी मेरठ जोन प्रवीण कुमार खुर्जा में ही डेरा डाले हुए थे।

Share it