Top

कथित लव जेहाद का मामला...अदालत ने युवती को उसकी स्वेच्छा पर छोड़ा

कथित लव जेहाद का मामला...अदालत ने युवती को उसकी स्वेच्छा पर छोड़ा

जोधपुर। राजस्थान उच्च न्यायालय ने कथित लव जेहाद मामले में युवती को उसकी स्वेच्छा पर रहने के आदेश दिये हैं।
न्यायालय के न्यायमूर्ति गोपाल कृष्ण व्यास एवं न्यायमूर्ति मनोज गर्ग की खंडपीठ ने आज यह फैसला सुनाया। मामले में कल और सुनवाई होगी, हालांकि युवती पायल ने ससुराल में रहना पसंद किया है। उल्लेखनीय है कि न्यायालय ने गत एक नवम्बर को धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम युवक के साथ निकाह करने वाली पायल को सात दिन के लिए नारी निकेतन भेज देने का आदेश दिया था। न्यायालय ने सरकार से धर्म परिवर्तन के लिए निर्धारित कानून, नियम या कोई गाइड लाइन हो तो सात नवम्बर तक पेश करने के आदेश भी दिए थे। पायल के भाई एवं जोधपुर में पाल रोड़ निवासी चिराग सिंघवी ने इस मामले में बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की थी। उधर पायल के पिता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी लव जिहाद की शिकार हुई है और उसे दुबई ले जाया जा रहा है, जहां उसे बेच दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है, इसलिए वे न्यायालय की शरण में आए हैं, ताकि अन्य बेटियों को लव जिहाद से बचाया जा सके।

Share it