Top

सीबीआई जांच की सहमति के बाद आन्दोलन वापस लेने की घोषणा

सीबीआई जांच की सहमति के बाद आन्दोलन वापस लेने की घोषणा

जयपुर। राजस्थान सरकार द्वारा पुलिस मुठभेड में मारे गये कुख्यात अपराधी आनंदपाल सिंह प्रकरण एवं सांवराद प्रकरण की जांच सीबीआई से कराये जाने पर सहमति देने और सात सूत्री मांगे मान लेने के बाद राजपूत समाज की ओर से आगामी 22 जून को प्रस्तावित जयपुर कूच और आंदोलन वापस लेने की घोषणा की गयी है। गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया और राजपूत समाज के अध्यक्ष गिर्राज सिंह लोटवाडा ने संयुक्त रूप से पत्रकारों को यह जानकारी दी। राज्य सरकार और सर्व समाज संघर्ष समिति के प्रतिनिधिमंडल के बीच सचिवालय में लगभग तीन घंटे तक चली वार्ता में सात सूत्रीय मांगों पर चर्चा हुयी। श्री कटारिया ने बताया कि सहमति के तहत राज्य सरकार 24 जून को आनंदपाल की मृत्यु के संबंध में दर्ज प्रकरण 190 /17 तथा 12 जुलाई को सांवराद में सुरेन्द्र सिंह की मृत्यु के संबंध में दर्ज एफआईआर संख्या 238/ 17 से संबंधित प्रकरणों की जांच के लिये सीबीआई को अनुशंसा करेगी । उन्होंने कहा कि इसकी जांच के संबंध में सीबीआई निर्णय लेगी और यदि अन्य प्रकरणों की जांच भी इसमें शामिल करेगी तो सरकार को इसमें कोई आपत्ति नहीं होगी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा 12 जुलाई को सांवराद में दर्ज प्रकरणों में द्वेषतापूर्ण कार्यवाही नहीं करने, आनंदपाल की पुत्री को भारत आने में राज्य सरकार की ओर से कोई कठिनाई नहीं प्रस्तुत करने , आनंदपाल के मुठभेड प्रकरण में गवाह श्रवणसिंह एवं उसके परिवार के सामान्य जीवन व्यतीत करने में सहयोग करने, कमांडो सोहनसिंह के इलाज और उसके परिजनों को उससे मिलने में सुविधा प्रदान करने, आनंदपाल के परिजनों द्वारा आवेदन करने के 24 घंटे के अंदर प्रथम पोस्टमार्टम रिपोर्ट उपलब्ध कराने तथा आंदोलन के कारण घायल एवं मृतकों के परिजनों को नियमानुसार मुआवजा देने पर सहमति बनी। उन्होंने कहा कि इस आंदोलन के संबंध में राजस्थान के किसी भी भाग से हुये गिरफतार लोगों को छोडने और पुलिस में दर्ज मामलों में लोगों को जमानत पर छोडने पर सहमति बनी है। राजपूत समाज के अध्यक्ष गिरार्ज सिंह लोटावाडी ने कहा कि वार्ता सौहार्दपूर्ण वातावरण में हुयी और सभी सातों बिंदूओं पर दोनों पक्षों में सहमति बनने के बाद समाज के सभी नेता संतुष्ट है । उन्होंने कहा कि इस संबंध में चलाये जा रहे आंदोलन को वापस लिया जा रहा है। राजस्थान सरकार की ओर से इस वार्ता में गृहमंत्री के अलावा पंचायत राज मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी तथा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एन आर के रेडडी, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अपराध पंकज सिंह सहित बडी संख्या में पुलिस अधिकारी मौजूद थे वहीं राजपूत समाज की ओर से गिर्राज सिंह लोटवाडा, करणी सेना के लोकेन्द्र सिंह कालवी, महावीर सिंह सरवडी, बलवीर सिंह हाथोज, दिलीप सिंह सहित ग्यारह प्रतिनिधि शामिल थे।

Share it
Top