Top

जोधपुर: शहर में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ उत्पातियों ने किया पथराव, गाडिय़ों के कांच फोड़े, पुलिस ने खदेड़ा

जोधपुर: शहर में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ उत्पातियों ने किया पथराव, गाडिय़ों के कांच फोड़े, पुलिस ने खदेड़ा


जोधपुर। नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ शुक्रवार को दोपहर में जोधपुर में भी उग्र प्रदर्शन हुआ। इस प्रदर्शन को रोकने के लिए महानगर पुलिस की तरफ से लोगों को पाबंद भी किया था लेकिन लोगों ने यहां काफी देर तक नई सडक़ चौराहा पर रास्ता रोककर रखा और प्रदर्शन किया। इससे यहां काफी देर तक यातायात व्यवस्था बाधित रही। इसके बाद जालोरी गेट व अन्य स्थानों पर भी प्रदर्शन और पथराव किया। गाडिय़ों के शीशे तोड़ दिए गए। बाद में पत्थर बरसा रहे लोगों को पुलिस ने खदेड़ दिया।

दरअसल सोशल मीडिया पर शुक्रवार दोपहर के प्रदर्शन को लेकर कई मैसेज वायरल हो रहे थे। इसमें बताया गया था कि दोपहर को लोगों को एकत्रित होकर नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन करना है। इस तरह के मैसेज पुलिस के पास भी पहुंचे थे। तब पुलिस की तरफ से विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों को पाबंद भी किया गया था लेकिन पुलिस की कोशिश नाकाम रही।

आज दोपहर में लोगों ने एकत्रित होकर नई सडक़ चौराहा पर जोरदार प्रदर्शन किया। देखते ही देखते वहां पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। एहतियात के तौर पर शहर के सभी प्रमुख चौराहों सहित नई सडक़ पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया था। नई सडक़ चौराहे पर दो-तीन वक्ताओं ने संक्षेप में नागरिकता कानून में किए गए संशोधन के खिलाफ अपनी बात रखी। इस दौरान यहां काफी देर तक रास्ता बाधित रहा। यहां से आने-जाने वाले लोगों के लिए दूसरे रास्तों पर यातायात डायवर्ड किया गया। करीब आधा घंटा बाद सभी वहां से रवाना हो गए।

बाद में शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर लौटते समय प्रदर्शनकारियों ने उत्पात मचाया। एक समूह ने भीतरी शहर में जबरन बाजार बंद करवा दिए। वहीं जालोरी गेट पर बेकाबू हुए दूसरे समूह ने पथराव कर दिया। जालोरी गेट पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर जमकर पत्थर बरसाए। इसके बाद पुलिस ने डंडे बरसा सभी को एक बार वहां से खदेड़ दिया। फिर जालोरी गेट चौराहे के समीप स्थिति तनावपूर्ण हो गई। एसटीएफ की टीम ने मौके पर पहुंच मोर्चा संभाला।

Share it