Top

बेकाबू ट्रक ने मातम में बदली शादी की खुशियां, नौ की मौत

बेकाबू ट्रक ने मातम में बदली शादी की खुशियां, नौ की मौत

प्रताप । जिले के छोटी सादड़ी कस्बे के निकट बेकाबू ट्रक ने दुल्हन की बिंदोली को रौंद दिया। हादसे में 9 लोगों की मौत हो गई| इसके अलावा 34 लोग घायल हुए हैं। घायलों को तत्काल छोटी सादड़ी चिकित्सालय लाया गया। वहां से 22 घायलों को हालत गंभीर होने पर उदयपुर रेफर किया गया। इनमें चार को आईसीयू में रखा गया है।

पहले प्रशासन ने 13 लोगों की मरने की पुष्टि की थी। अब केवल 9 लोगों के मरने की खबर आ रही है। छोटी सादड़ी चिकित्सालय में भी केवल 9 शव रखे हैं। रेफर के दौरान रास्ते में चार की मौत बताई थी। अब प्रशासन भी 9 की मौत ही बता रहा है।

इधर गुस्साए ग्रामीणों ने मंगलवार सुबह राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 113 पर जाम लगा दिया। ग्रामीण मृतकों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं। लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर टायर जलाकर और बैरिकेट्स लगाकर जाम लगा दिया है।

पुलिस के मुताबिक सोमवार देर रात छोटी सादड़ी थाना क्षेत्र में राष्ट्रीय राजमार्ग 113 पर रामदेव जी के पास गाडोलिया समाज के विवाह में दुल्हन की बिंदोली निकल रही थी। इसी दौरान एक बेकाबू ट्रक ने बिंदोली को रौंद दिया। हादसे में 9 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा 22 गंभीर घायलों को उदयपुर रेफर किया गया है। इनमें से 4 को आईसीयू में रखा गया है। हादसे के बाद घटनास्थल पर अफरा-तफरी का माहौल हो गया। विवाह समारोह मंगलवार को होना था। इससे पहले मांडे की रस्म की तरह दुल्हन की बिंदोली निकाली जा रही थी। सभी लोग रामदेव जी के मंदिर में धोक देने (पूजा करने) के लिए पैदल ही जा रहे थे।

पुलिस अधीक्षक अनिल बेनीवाल ने बताया कि हादसा छोटी सादड़ी कस्बे से 7 किलोमीटर दूर रामदेव जी में हुआ है। गाडोलिया लोहार समाज के लोग लड़की को घोड़ी पर बैठाकर बिंदाेली (वधू पक्ष का कार्यक्रम) निकाल रहे थे। तभी ट्रक ने उन्हें कुचल दिया। हादसे के बाद ट्रक चालक फरार हो गया।

राजस्थान सरकार के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने रामदेव जी में हुई दुर्घटना को लेकर प्रशासन और अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने घायलों के तुरंत उपचार और हर मदद के लिए कहा है। स्थानीय चिकित्सालय मुर्दाघर में शवों को रखवाया गया है। यहां पोस्टमार्टम की कार्रवाई की जा रही है।

मृतक में रमेश पिता कारु गाड़ियां लोहार की उम्र 30 रामदेवजी, भारत पिता नागजी गाड़िया लोहार उम्र 30 रामदेवजी , शुभम पिता रमेश गाड़िया लोहार 6 रामदेवजी, राजेश पिता भारत गाड़िया लोहार उम्र 9 रामदेवजी, करण पिता गोपी गाड़िया लोहार उम्र 28 रामदेवजी, दौलतराम पिता हीरालाल उम्र 60 निवासी चौमेला झालावाड़, अर्जुन पिता रमेश नायक उम्र 15 रामदेवजी, छोटू पिता राजू गाड़िया लोहार 8 रामदेवजी, ईशु उर्फ ईश्वर पिता राम किशोर मोची दशहरा मैदान छोटी सादड़ी शामिल हैं।

बरात अटारी सांवलिया जी से सोमवार रात को रात 11 बजे पहुंचने वाली थी। हादसे की सूचना के बाद बरात रास्ते से ही लौट गई। दुल्हन रेखा को छोटी सादड़ी अस्पताल लाया गया था। जहां से हालत नाजुक होने पर उसे उदयपुर रेफर किया गया।

बिंदोली में मौजूद हरिराम ने बताया कि बिंदोली में 100 से 150 लोग थे। गाड़ियां आसानी से निकल सकें, इसलिए हम हाईवे पर एक तरफ ही चल रहे थे। तभी पीछे से तेज रफ्तार ट्रक आया और लोगों को कुचलता हुआ चला गया।

दुल्हन रेखा के रिश्ते के भाई के बापूलाल ने बताया, ''मैं भी बहन रेखा की बिंदोली में शामिल था। हम रेखा को घोड़ी पर बैठाकर नाचते-गाते रामदेवजी के मंदिर जा रहे थे। हम मंदिर से करीब 500 मीटर दूर ही थे कि तेज रफ्तार ट्रक लोगों को कुचलता हुआ निकल गया। पीछे देखा तो लाशें बिखरी पड़ी थीं।


Share it