Top

सिरसा के गांवों में कफ्र्यू में उजड़ रही है किसानों की फसल

सिरसा के गांवों में कफ्र्यू में उजड़ रही है किसानों की फसल

सिरसा। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को साध्वी यौन शोषण प्रकरण में दोषी करार दिये जाने और 20 साल की सजा सुनाये जाने के बाद से सिरसा में डेरे के आसपास के क्षेत्रों में लगा कफ्र्यू हजारों एकड़ फसल उजडऩे का कारण बन गया है। नेजिया गांव के कुछ किसानों ने यूनीवार्ता को बताया कि डेरा के साथ लगते नेजिया, बाजेंका, अलीमोहम्मद, बेगू एवं रंगड़ी गावों में लगे कफ्र्यू के कारण हजारों एकड़ में खड़ी फसलें उजड़ रही हैं। मवेशी भूखे मर रहे हैं जबकि गावों में बीमार पड़े लोग उपचार के अभाव में तड़प रहे हैं। उन्होंने कहा कि ग्रामीण जिला प्रशासन से गुहार लगा रहे हैं मगर अधिकारी कफ्र्यू के चलते कुछ भी राहत देने को तैयार नहीं हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि गावों के अलावा मार्गों पर सेना की तैनाती करके मार्ग अवरूद्ध किए हुए हैं। गांव के किसान खेतों में ना जा सकें इसके लिए घुड़सवार पुलिस निरंतर गश्त कर रही है। खेतों में ज्यों ही कोई किसान नजर आता है,घुड़सवार पुलिस वाले उनके पीछे दौड़ते हैं। किसानों के खेती के साथ पशुपालन भी एक व्यवसाय है मगर पशुओं के लिए खेतों से हरा चारा लाना कठिन हो गया है। दुधारू पशुओं को तो पशुपालक दाना,चूरी डाल रहे हैं लेकिन दूसरे पशु भूखों मरने को मजबूर हैं। ग्रामीणों ने कहा कि खेतों में ग्वार की फसल पककर तैयार है इसी के साथ नरमा कपास की चुगाई ना होने से धरातल पर गिरने लगा है। अगर कुछ दिन ऐसे और चला तो उनकी पकी पकाई फसल बर्बाद हो जाएगी।

Share it