Top

..तो मेडिकल आधार पर पेशी से छूट की तैयारी!

..तो मेडिकल आधार पर पेशी से छूट की तैयारी!

चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के ट्वीट को लेकर राजनीतिक गलियारों में तरह-तरह के चर्चे शुरू हो गए हैं। डेरा प्रमुख ने जहां कोर्ट का सम्मान करने की बात कही है, वहीं दूसरी तरफ डेरा प्रमुख ने पीठ में दर्द भी होने की बात साझा की है जो डेरा प्रमुख के अस्वस्थ होने की तरफ इशारा करता है।
सूत्रों के अनुसार डेरा प्रमुख ने जहां एक ओर कोर्ट तथा कानून का सम्मान करने की बात कहकर समाज में एक सकारात्मक संकेत देने का प्रयास किया है, तो दूसरी तरफ पीठ में दर्द की बात का इजहार करके अपने बीमार होने की भी जानकारी दी। अगर किन्ही परिस्थितियों में डेरा प्रमुख कोर्ट में पेश नहीं होते हैं तो मेडिकल ग्राउंड के आधार पर उन्हें कोर्ट में पेशी से छूट मिल सकती है। हाईकोर्ट के एक वरिष्ठ अधिवक्ता ने भी इस बात की पुष्टि की।
उनके अनुसार अगर कोई एमबीबीएस चिकित्सक किसी के बीमार होने की रिपोर्ट लिखता है, उस रिपोर्ट को अगर कोर्ट में बीमार व्यक्ति का वकील पेश करता है तो कोर्ट इस स्थिति में उसकी पेशी से छूट में मानवीय दृष्टिकोण के आधार पर विचार कर सकता है। इस परिस्थिति में कोर्ट पर निर्भर करता है कि वह आरोपी को कोर्ट में पेश होने से छूट प्रदान करे या न करे।
गौरतलब है कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ चल पंचकुला की सीबीआई अदालत में साध्वी यौन शोषण केस चल रहा है। इस केस में 25 अगस्त को कोर्ट द्वारा फैसला सुनाया जायेगा। इस फैसले को लेकर हरियाणा तथा पंजाब में हाई अर्लट घोषित किया गया है। डेरा समर्थक लाखों अनुयायी प्रत्येक जिले में नाम चर्चा घरों में एकजुट हो रहे हैं। पंचकुला में भी भारी संख्या में डेरा समर्थक एकत्रित हैं। सूत्रों के अनुसार, अगर कोर्ट का फैसला डेरा प्रमुख के खिलाफ आता है तो डेरा समर्थक प्रदर्शन कर सकते हैं। यह प्रदर्शन हिंसक भी हो सकता है जिसको देखते हुए सरकार काफी सर्तक है।

Share it