Top

नदी से रेत खनन के विरोध में उग्र प्रदर्शन, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

नदी से रेत खनन के विरोध में उग्र प्रदर्शन, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

जूनागढ़। गुजरात के जूनागढ़ जिले के वंथली शहर में स्थानीय ओजत नदी से कथित तौर पर अवैध और अंधाधुंध रेत खनन के विरोध में आयोजित बंद के दौरान जूनागढ़-सोमनाथ राजमार्ग को जाम कर रही उग्र भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े तथा स्थानीय कांग्रेस विधायक जवाहर चावड़ा समेत कम से कम नौ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया। बंद के दौरान सभी स्थानीय बाजार और मार्केटिंग यार्ड बंद रहे। व्यापारी समुदाय ने भी बंद का समर्थन किया था। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि पानी की कमी वाले इस इलाके में ओजत नदी के तट से अंधाधुंध रेत खनन से पानी की और तंगी हो जायेगी। इससे पर्यावरण तंत्र को भी खासा नुकसान होगा। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि रेत खनन माफिया के गुंडों ने उनके खिलाफ आंदोलन चला रहे एक आरटीआई कार्यकर्ता नयन कलोला को कल रात अगवा कर उन पर हमला किया था। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। कलेक्टर सौरभ पारघी ने बताया कि 5000 से अधिक लोगों की उग्र भीड़ को शांतिपूर्व समझाने के प्रयास विफल रहने के बाद पुलिस को इन्हे तितर बितर करने के लिए तीन चक्र आंसू गैस के गोले दागने पड़े। नौ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया गया। श्री पारघी ने बताया कि रेत ठेकेदार के पक्ष में गुजरात हाई कोर्ट के आदेश के चलते खनन पर प्रशासन रोक नहीं लगा पाया था। आज की घटना के चलते खनन पर फौरी तौर पर रोक लगायी गयी है। उधर, प्रदर्शनकारियों ने खनन पर रोक नहीं लगाने पर आगामी 29 जून को कलेक्टर कार्यालय में सामूहिक आत्महत्या करने की चेतावनी दी है।

Share it
Top