Top

उप्र में 276 हुए कोरोना संक्रमण के मामले, तब्लीगी जमात के 138 पॉजिटिव केस

उप्र में 276 हुए कोरोना संक्रमण के मामले, तब्लीगी जमात के 138 पॉजिटिव केस


- कुल 1499 चिह्नित तब्लीगी जमात के लोगों में से 1205 क्वारंटाइन में


लखनऊ। प्रदेश में तब्लीगी जमात के कारण कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में इजाफा होने का सिलसिला जारी है। सूबे में रविवार को कोराना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या जहां बढ़कर 276 हो गई, वहीं इनमें पचास प्रतिशत यानी 138 मामले तब्लीगी जमात से सम्बन्धित हैं। मेडिकल रिपोर्ट आने पर ये संख्या अभी और बढ़ने की प्रबल सम्भावना है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तब्लीगी जमात के 'फैसिलिटी क्वारंटाइन' में रखे लोगों की पूरी निगरानी और मेडिकल हेल्प की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। जिससे उनके उपचार में कोई कमी न हो और यह संक्रमण कहीं आगे भी न फैले। ठीक होने पर इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी। प्रदेश में कोरोना वायरस के कारण अब तक तीन मौतें हो चुकी हैं। हाल ही में तीसरी मौत वाराणसी जनपद से सम्बन्धित है।

जमात के कारण अब 31 जिले चपेट में

अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद के साथ बताया कि तब्लीगी जमात की वजह से कोराना संक्रमण वाले जनपदों की संख्या में भी इजाफा हुआ और अब ऐसे कई जिले भी इसकी चपेट में आ गये हैं, जहां अभी तक एक भी मामला नहीं था। राज्य के 31 जिलों से अब तक कोरोना संक्रमण के मामलों की पुष्टि हुई है। तीन-चार जनपद इसके हॉट स्पॉट बन चुके हैं। कुल 276 मामलों में से बेहतर इलाज की बदौलत 21 लोगों को डिस्चार्ज कर घर भेजा जा चुका है।

राज्य में शनिवार को कोराना वायरस के 227 मामले सामने आये थे। इस तरह चौबीस घंटों में 49 नये केस सामने आये हैं। जमात के कुल 138 कोरोना संक्रमित मामलों में प्रमुख रूप से आगरा में 29,गाजियाबाद में 14, मेरठ में 13, सहारनपुर में 13, शामली में 08, महाराजगंज में 06, कानपुर नगर में 06 और गाजीपुर में 05 मामले हैं। शेष मामले अन्य जनपदों से सम्बन्धित हैं। वहीं प्रदेश के कुल 276 मामलों में प्रमुख रूप से गौतमबुद्धनगर में 58, आगरा में 44, मेरठ में 33, गाजियाबाद में 23, लखनऊ में 17 और सहारनपुर में 06 हैं। शेष अन्य जनपदों से सम्बन्धित हैं।

प्रदेश में कुल 3375 लोग फैसिलिटी क्वारंटाइन में

प्रदेश में कुल अब फैसिलिटी क्वारंटाइन में रखे लोगों की संख्या 3375 हो गई है। ये वह लोग हैं, जो कोराना संक्रमित लोगों के सीधे सम्पर्क में थे या फिर उनके बेहद करीब थे। तब्लीगी जमात का मामला सामने आने के बाद प्रदेश भर में सघन सर्विलांस के बाद फैसिलिटी क्वारंटाइन की संख्या लगातार बढ़ रही है, जिससे वायरस को फैलने से रोका जा सके। फैसिलिटी क्वारंटाइन के बाद इन्हीं जांच की जा रही है और रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर तत्काल इलाज शुरू कर दिया जा रहा है।

मेरठ जोन में तब्लीगी जमात के सबसे अधिक मामले

तब्लीगी जमात के मामलों में जोनवार मेरठ में 301, बरेली में 281, कानपुर में 68, वाराणसी में 232, लखनऊ में 108, आगरा में 147, प्रयागराज में 56, गोरखपुर में 213, गौतमबुद्धनगर में 70 और लखनऊ कमिश्नरी में 23 लोग चिह्नित किए गए हैं। इस तरह कुल 1499 चिह्नित तब्लीगी जमात के लोगों में से 1205 को क्वारंटाइन किया गया है।

295 विदेशी नागरिकों के खिलाफ एफआईआर

वहीं विदेशी नागरिकों की बात करें तो 305 लोग चिह्नित किए गए हैं। इनके खिलाफ 20 जनपदों में फॉरेनर्स एक्ट, एपिडेमिक एक्ट और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। 295 विदेशी नागरिकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

Share it