Top

वीआईपी की सुरक्षा हटने पर अपराधों का दर्द पता चलेगा: स्वाति

वीआईपी की सुरक्षा हटने पर अपराधों का दर्द पता चलेगा: स्वाति


नई दिल्ली। बलात्कारियों को फांसी दिलवाने की मांग लेकर आमरण अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने छठे दिन रविवार को कहा कि अगर वीवीआईपी की सुरक्षा हटा दी जाए तो उन्हें अपराधों का दर्द पता चल जाएगा। उनके स्वास्थ्य की डॉक्टर्स निगरानी कर रहे हैं। उनका कहना है कि स्वाति मालीवाल की सेहत स्थिर है लेकिन वजन चार किलोग्राम कम हो गया है।

स्वाति मालीवाल ने गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखकर नेताओं की वीआईपी सुरक्षा हटाने की मांग की है। स्वाति ने कहा संसद में बैठने वाले नेता बेटियों पर हो रहे जुर्म और अपराधों का दर्द इसलिए नहीं समझ पाते क्योंकि उनकी बेटियां सुरक्षित हैं। नेताओं को कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि उनके परिवार सुरक्षा घेरे में रहते हैं। ऐसे में देश की आम महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा के लिए वह कैसे कोई कड़ा कानून बना सकते हैं। पत्र में स्वाति ने गृहमंत्री को अपनी मांगों के बारे में भी अवगत कराया।

उन्होंने कहा है कि दिल्ली पुलिस पिछले 13 सालों से 66,000 पुलिस कर्मियों की मांग कर रही है जो उन्हें आज तक नहीं मिली। दिल्ली पुलिसकर्मियों की बड़ी संख्या वीआईपी सुरक्षा में ड्यूटी देने में इस्तेमाल की जाती है। ऐसे में दिल्ली के पुलिस थाने अपने सैंक्शंड स्टाफ से आधे पर काम करने पर मजबूर हैं। ऐसे में सुरक्षाबलों की वीआईपी सुरक्षा में तैनाती जायज नहीं है। स्वाति ने ट्वीट कर यह भी कहा जिस दिन इन नेताओं की सुरक्षा हटा दी गई और जब इनके घर की बेटियां रात को अकेली कहीं से वापस लौटेंगी और नेताओं के मन में डर रहेगा उस दिन वह एक मजबूत कानून बनाने की दिशा में काम करेंगे। स्वाति ने गृहमंत्री से मिलने का समय मांगा है। स्वाति ने कहा है कि आयोग की टीम महिला सुरक्षा के मुद्दों पर उनसे तत्काल मिलना चाहती है।

#NoMoreVIPCulture ट्रेंड वायरल

स्वाति की मांग को देशभर से समर्थन मिल रहा है। महिलाएं हाथों में तख्ती लेकर सरकार से पूछ रही हैं कि जब हमारी बेटियां सुरक्षित नहीं तो पुलिस के संसाधनों का अपव्यय क्यों हो रहा है। सोशल मीडिया पर #NoMoreVIPCulture ट्रेंड वायरल हो रहा है।


Share it
Top