Top

हैदराबाद दुष्कर्म-हत्याकांड: क्या अब न्याय के लिये एनकाउंटर का इंतजार करना होगा : स्वाति मालीवाल

हैदराबाद दुष्कर्म-हत्याकांड: क्या अब न्याय के लिये एनकाउंटर का इंतजार करना होगा : स्वाति मालीवाल


नई दिल्ली। हैदराबाद दुष्कर्म-हत्याकांड के मुद्दे पर आमरण अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल शुक्रवार को चौथे दिन आहत दिखीं। हैदराबाद पुलिस की मुठभेड़ में चारों आरोपितों की मौत पर एनकाउंटर का स्वागत करते हुए उन्होंने सवाल उठाया। उन्होंने कहा शायद पुलिस का प्रशासन से भरोसा उठ चुका है। इसलिए पुलिस ने आरोपितों को एनकाउंटर में मार दिया। मालीवाल ने सवालिया लहजे में कहा- क्या लोगों को न्याय के लिए एनकाउंटर का इंतजार करना होगा ? क्या हमारा सिस्टम नहीं बदलेगा ?

मालीवाल ने कहा, सरकार कठोर कानून बनाए। सिस्टम को दुरुस्त करे। ऐसा होने पर ही लोगों को जल्द न्याय मिल सकता है। अब तक आरोपित सरकारी मेहमान बने रहते थे। एनकाउंटर से लोग खुश हैं मगर सरकार को सिस्टम में सुधार करना चाहिए।

स्वाति मालीवाल को समर्थन देने बड़ी संख्या में महिलाएं और तमाम लोग राजघाट पहुंचे। इस बीच दोपहर दो बजे दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया राजघाट पहुंचे और उनसे मिले। उन्होंने कहा फाइलों के घूमने की परंपरा खत्म होनी चाहिए। स्वाति यही मांग कर रही हैं। उन्होंने मालीवाल से अनशन तोड़ने का आग्रह किया और कहा-किसी भी लड़ाई को लड़ने के लिए जीवित रहना जरूरी है। सब लोग मालीवाल के साथ हैं, उन्हें अनशन खत्म कर देना चाहिए। दुष्कर्मियों को फांसी की मांग लेकर आमरण अनशन पर बैठीं स्वाति मालीवाल से मिलने कांग्रेस सांसद राजमणि पटेल भी पहुंचे।

इस मौके पर स्वाति राजघाट पहुंचे लोगों से कहा, उन्हें अपनी जान की परवाह नहीं। वह महिला हितों के लिए काम करती हैं। लोगों ने स्वाति की मुहिम का समर्थन करते हुए केंद्र सरकार से उनकी मांग मानने की अपील करी। राज्यसभा सदस्य राजमणि पटेल ने देश में बढ़ रही रेप की घटनाओं और महिलाओं अपराधों पर चिंता जताई। स्वाति मालीवाल को उनकी मुहिम के लिए बधाई दी। उन्होंने आश्वासन दिया कि वह सदन में महिला सुरक्षा के मुद्दे को उठाएंगे।

स्वाति की मुहिम को सोशल मीडिया में भारी समर्थन मिल रहा है। प्रसिद्ध अभिनेता जावेद जाफरी, रघु राम, अहसास चन्ना, टीवी की प्रसिद्ध एक्ट्रेस अविका गौर, फिल्म निर्देशक श्लोक शर्मा ने सोशल मीडिया के जरिए स्वाति को अपना समर्थन दिया है। स्वाति ने ट्वीट कर लोगों से भारी संख्या में राजघाट पहुंचने की अपील की है। स्वाति ने कहा है कि मांग पूरी होने पर वह अन्न ग्रहण करेंगी।

इस बीच लोकनायक अस्पताल के डॉक्टर उनके स्वास्थ्य की जांच करने पहुंचे। डॉक्टरों ने कहा है कि फिलहाल उनकी हालत ठीक है। स्वाति मालीवाल ने फुल चेकअप के लिए डॉक्टर को शुक्रवार सुबह 10:00 बजे आने को कहा है।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल की मांग है कि आरोपितों को छह महीने के भीतर फांसी की सजा दी जाए। निर्भया के गुनहगारों को फांसी दी जाए। दिल्ली पुलिस में 66,000 पुलिसकर्मियों की भर्ती की जाए। ज्यादा से ज्यादा फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाए जाएं। पुलिस की जवाबदेही तय की जाए। निर्भया फंड का इस्तेमाल किया जाए। वह तीन दिसंबर से आमरण अनशन पर बैठी हैं।


Share it
Top