Top

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दो टूक कहा...सीएए भारत का अंदरूनी मामला, 370 हटाना सही, आतंकवाद पर लगाई पाकिस्तान को कडी फटकार

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दो टूक कहा...सीएए भारत का अंदरूनी मामला, 370 हटाना सही, आतंकवाद पर लगाई पाकिस्तान को कडी फटकार

नई दिल्ली। भारत के दौरे पर आये अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली में जारी हिंसा के बीच अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने सीएए को भारत का अंदरूनी मामला बताया तथा कहा कि धारा 37० को भी भारत ने सोच समझकर ही हटाया है। सीएए पर ट्रंप का यह बयान अपने आप में महत्वपूर्ण है, क्योंकि एक दिन पहले आशंका जताई गई थी कि ट्रंप के दौरे के समय दिल्ली का माहौल जानबूझकर खराब करने की साजिश हो सकती है। आतंकवाद को पोषण देने पर ट्रम्प ने पाकिस्तान को जमकर लताड भी लगाई। मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में ट्रंप ने कहा, 'मैं कहना चाहूंगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी मजबूती से काम कर रहे हैं। धार्मिक स्वतंत्रता के लिए वह अच्छा काम कर रहे हैं। वह एक मजबूत नेता हैं। धार्मिक स्वतंत्रता को लेकर भारत अच्छा काम कर रहा है। एकाध घटनाओं पर मैंने उनसे बात नहीं की है।' उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहे आतंकवाद को रोकने के लिए कई साकारात्मक कदम उठा रहा है। अपने संबोधन के दौरान ट्रंप ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा रुख दिखाया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की धरती से चलने वाले आतंकवाद पर लगाम लगाने की जरूरत है। दोनों देश आतंकवाद को खत्म करने के लिए साथ काम करेंगे और पाकिस्तान पर दबाव बनाएंगे। ज्ञातव्य है कि डोनाल्ड ट्रंप का भारत दौरा शुरू होने के साथ ही राजधानी दिल्ली में सीएए के विरोध के नाम पर हिंसा की जा रही है। इस हिंसा में अब तक हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल समेत 10 लोगों की जान जा चुकी है। दिल्ली पुलिस की ओर से गृह मंत्रालय को सौंपी गई रिपोर्ट में बताया गया है कि पर्याप्त सुरक्षा बल नहीं होने के चलते भीड़ को नियंत्रित नहीं किया जा सका। दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों के साथ हुई बैठक में कहा कि सोमवार को उनके पास पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल नहीं थे। एक वरिष्ठ अधिकारी ने भी कहा कि पर्याप्त सुरक्षाकर्मी नहीं होने के कारण स्थिति और बिगड़ती गई।

Share it