Top

बहुचर्चित निर्भया गैंगरेप केस: 22 जनवरी को नहीं होगी निर्भया के दोषियों को फांसी

बहुचर्चित निर्भया गैंगरेप केस: 22 जनवरी को नहीं होगी निर्भया के दोषियों को फांसी

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के बहुचर्चित निर्भया गैंगरेप केस के चार दोषियों में से विनय शर्मा और मुकेश सिंह की सुधारात्मक याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को खारिज कर दी। जिसके बाद दोषी मुकेश ने फांसी के फंदे से बचने के लिए अपना आखिरी दांव खेलते हुए राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल की है।

निर्भया के दोषी मुकेश कुमार की अर्जी पर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है। इस दौरान सरकारी वकीलों ने कहा कि दया याचिका खारिज होने के बाद भी 14 दिन का समय दिया जाता है। वहीं दोषी ने डेथ वारंट पर रोक लगाने की भी मांग की है। ऐसे में निर्भया केस के दोषियों की फांसी 22 जनवरी से कुछ दिन और आगे बढ़ सकती है।

मुकेश ने कहा कि राष्ट्रपति के पास उसने अपनी दया याचिका भेजी है जो कि अभी लंबित है, इसलिए डेथ वारंट पर रोक लगाई जाए। वहीं सरकारी वकीलों ने सुनवाई के दौरान यह भी तर्क दिया कि अगर राष्ट्रपति दया याचिका खारिज भी कर देते हैं उसके बाद भी दोषियों को 14 दिन का वक्त देना होगा। ऐसे में निर्भया के दोषियों को 22 जनवरी को फांसी नहीं दी जा सकती है।

Share it
Top