Top

गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू जारी, स्टेशन पर तोड़फोड़, आगजनी की कोशिश, 10 जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित, धारा 144 लागू,सभी उड़ानें रद्द

गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू जारी, स्टेशन पर तोड़फोड़, आगजनी की कोशिश, 10 जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित, धारा 144 लागू,सभी उड़ानें रद्द


- पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने 30 से अधिक ट्रेनों को पूरी तरह या आंशिक रूप से किया रद्द

- डिब्रूगढ़ में मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के घर पर पथराव

- तिनसुकिया जिले में आरएसएस कार्यालय को निशाना बनाने की कोशिश

- तिनसुकिया जिले के पानीतोला रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़, आगजनी की कोशिश


गुवाहाटी। पूर्वोत्तर में विरोध के बीच संसद के दोनों सदनों से नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) -2019 अंततः बुधवार को पारित हो गया। हालांकि इस दौरान पूर्वोत्तर के सभी राज्यों में कमोबेश विरोध प्रदर्शन जारी है। विरोध के सबसे मुखर स्वर असम और त्रिपुरा में दिखाई दे रहे हैं। असम में मुख्य रूप से राजधानी गुवाहाटी, जोरहाट, डिब्रूगढ़, तिनसुकिया जिलों में हालात इतने बेकाबू हो गए कि प्रशासन को मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करना पड़ा। गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में हिंसक आंदोलन के चलते कर्फ्यू लगाया गया है।

गुवाहाटी में कर्फ्यू की वजह से सड़कों पर वाहन नहीं चल रहे हैं। हालांकि पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने 30 से अधिक ट्रेनों की सेवाओं को रद्द या आंशिक रूप से रद्द किया है। डिब्रूगढ़ हवाई अड्डे से गुरुवार की सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है।

गुरुवार की सुबह से गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ जिले शहरी इलाकों में सुबह से ही सेना फ्लैग मार्च कर रही है। प्रशासन ने एहतियातन 10 जिलों में धारा 144 लागू करते हुए मोबाइल इंटरनेट व एसएमएस सेवा को निलंबित कर दिया है। ज्ञात हो कि गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में जगह-जगह सड़कों पर कैब का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी बुधवार को जबरन सभी दुकानों को बंद करा दिया था। साथ ही सड़कों पर टायर जलाकर आगजनी किये थे।

गुवाहाटी में बीती रात चार वाहनों में आग लगाई गई। कई वाहनों में जमकर तोड़फोड़ की गई। इसी तरह गोलाघाट और तिनसुकिया जिले में आरएसएस के कार्यालय को निशाना बनाने की कोशिश की गई। डिब्रूगढ़ में मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के घर पर बीती रात जमकर पत्थरबाजी की गई। इसी तरह से तिनसुकिया जिले के पानीतोला रेलवे स्टेशन को आग के हवाले करने की भी कोशिश की गई, लेकिन उपद्रवी जब सफल नहीं हुए तो रेलवे स्टेशन पर जमकर तोड़फोड़ की गई।

ऊपरी असम के अन्य कई रेलवे स्टेशनों को भी निशाना बनाया गया। डिब्रूगढ़ जिला शहर के असम स्टेट ट्रांस्पोर्ट कार्पोरेशन (एएसटीसी) के बस अड्डे पर भी दंगाइयों ने जमकर तोड़फोड़ की। पुलिस ने गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए कई राउंड हवा में रबर की गोलियां चलाकर भीड़ को तितर-बितर किया। आरंभ में पुलिस सख्ती नहीं दिखा रही थी, जिसके चलते उपद्रव फैलता गया। बाद में जब पुलिस ने सख्ती बरती तो हालात थोड़े सामान्य हुए। हालांकि गुरुवार को भी गुवाहाटी, जोरहाट, डिब्रूगढ़, तिनसुकिया, लखीमपुर, दरंग आदि जिलों में भारी तनाव बना हुआ है। हालात को संभालने के लिए पुलिस के साथ ही सेना को भी सड़क पर उतार दिया गया है।

गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू लगाया गया है। इसके बावजूद गुरुवार को दिन के 11 बजे बॉलीवुड और असमिया के फिल्मों के पार्श्व गायक जुबिन गर्ग के आह्वान पर राजधानी के लताशील खेल मैदान में लोगों को एकजुट होकर कैब के विरोध में आवाज उठाने की अपील की है। पुलिस प्रशासन के लिए इससे निपटने की बड़ी चुनौती है।


Share it
Top