Top

उप्र कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम लखनऊ में गिरफ्तार, कांग्रेसियों ने किया विरोध तो पुलिस ने किया बल प्रयोग

लखनऊ, 30 जून। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में 19 दिसम्बर 2019 को हुए उपद्रव के मामले में पुलिस ने सोमवार देर रात उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज आलम को गिरफ्तार किया है।

हजरतगंज पुलिस ने कांग्रेस नेता व उत्तर प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज आलम को मुख्यमंत्री आवास के निकट गोल्फ लिंक अपार्टमेंट के सामने से गिरफ्तार किया है। सीसीटीवी में यह घटना कैद हुई है। वहीं, इस घटना को लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू, नेता कांग्रेस वि​धायक दल आराधना मिश्रा पहुंची। इस मामले में कांग्रेस के बवाल पर पुलिस द्वारा हल्का बल प्रयोग करने की भी खबर है।

प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज़ आलम को सोमवार रात लखनऊ की हजरतगंज पुलिस ने उस समय उठा लिया जब वह कार से कहीं जा रहे थे। विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि श्री आलम को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में पिछले साल लखनऊ में भड़की हिंसा के मामले में गिरफ्तार किया गया है। हालांकि पुलिस अधिकारी इस बारे में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। कांग्रेसी नेता को मुख्यमंत्री आवास के निकट गोल्फ लिंक अपार्टमेंट के सामने से उस समय उठाया गया जब वह कार से कहीं जा रहे थे।

गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना समेत कई कांग्रेसी हजरतगंज कोतवाली पहुंच गये और अधिकारियों से श्री आलम के गिरफ्तारी की वजह पूछी। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता ललन कुमार ने बताया कि पुलिस अधिकारी आलम को देर रात तक हिरासत में रखे हुये थे। कांग्रेसी गिरफ्तारी के विरोध में थाने के आसपास डेरा डाले हुये हैं।

विदित हो कि सीएए और एनआरसी के विरोध में विभिन्न संगठनों द्वारा बुलाए गए विरोध प्रदर्शन के दौरान लखनऊ में योजनाबद्ध तरीके से हिंसा फैलायी गयी थी। इस हिंसा और उपद्रव के दौरान राजधानी में करीब पांच करोड़ रुपये की संपत्ति को आग के हवाले कर दिया गया था। हिंसा में चार थाना क्षेत्रों हजरतगंज, कैसरबाग, ठाकुरगंज और हसनगंज में उपद्रवियों ने तोडफ़ोड़ कर करीब 35 वाहनों को आगे के हवाले कर दिया था। प्रशासन इस मामले वसूली की कार्रवाई कर रहा है।

Share it