Top

लुधियाना की लड़की को मेरठ भगा लाया था तांत्रिक,कर दी हत्या,आरोपी ने किया पुलिस हिरासत में पुलिस पर ही हमला,गोली मारकर दबोचा

मेरठ - मंगलवार को एक युवती की हत्या के खुलासे के दौरान पुलिस को भारी फजीहत का सामना करना पड़ा। दरअसल, खुलासे के समय मौजूद मृतका के गुस्साए परिजनों ने आरोपी महिलाओं सहित सभी आरोपियों की जमकर पिटाई की। उधर, जैसे-तैसे आरोपियों को बचा कर आरोपियों को मेडिकल के लिए ले जा रही पुलिस की हिरासत से मुख्य आरोपी एक कांस्टेबल की पिस्टल छीनकर फरार हो गया। जिसके बाद पुलिस ने मुठभेड़ में आरोपी के पैर में तीन गोली मारकर धर दबोचा।

एसएसपी अजय साहनी के मुताबिक दौराला क्षेत्र का शाकिब नाम का युवक लुधियाना में तांत्रिक की दुकान चलाता था। शाकिब ने अपना नाम अमन बता कर लुधियाना में रहने वाली एकता नाम की 19 वर्षीय युवती को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। एक साल पहले आरोपी की बातों में आकर एकता अपने घर से 15 तोले सोने के जेवर और हजारों की नकदी लेकर उसके साथ मेरठ चली आई। लेकिन जैसे ही एकता को उसके शाकिब नाम होने का पता चला तो एकता विरोध करने लगी तो कुछ दिनों बाद शाकिब और उसके परिजनों ने गला काटकर एकता की हत्या कर दी। इसके बाद पहचान छिपाने के उद्देश्य से आरोपियों ने एकता के हाथ और गला काटकर उसके शव को दौराला स्थित एक खेत में फेंक दिया। शव बरामद होने के बाद से पुलिस इस शव की शिनाख्त के प्रयास में जुटी रही। घटनास्थल से उठाई गई बीटीएस के आधार पर मिले मोबाइल नंबरों में कुछ मोबाइल नंबर घटना से पहले लुधियाना में एक्टिव पाए गए थे।

जिसके बाद पुलिस लुधियाना पहुंची। लुधियाना में तलाश करते-करते पुलिस एकता के परिजनों तक पहुंच गई। हैरत की बात है कि एकता के परिजनों को उसकी हत्या की भनक तक नहीं थी। दरअसल, हत्या के बाद से शाकिब व्हाट्सएप पर एकता की डीपी बदल-बदल कर लगातार उसके परिजनों से एकता बनकर संपर्क में था। मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने मुख्य आरोपी शाकिब सहित हत्या में उसका साथ देने वाली उसके परिवार की दो महिलाओं और तीन अन्य पुरुषों को गिरफ्तार कर लिया।

मंगलवार की दोपहर पुलिस लाइन में इस कांड के खुलासे के लिए पत्रकार वार्ता बुलाई गई। उधर, पत्रकार वार्ता में आरोपियों को सामने देखते ही मृतका के परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा। मृतका के परिजनों ने पुलिस के सामने ही आरोपी महिलाओं और पुरुषों की लात-घूंसो से जमकर पिटाई की। पुलिस जैसे-तैसे आरोपियों को छुड़ाकर जेल के लिए रवाना हुई।

एसएसपी ने बताया इसी दौरान रास्ते में आरोपियों को मेडिकल के लिए ले जाते समय मुख्य आरोपी शाकिब ने एक कांस्टेबल की पिस्टल छीनकर फरार होने का प्रयास किया। शाकिब द्वारा की गई फायरिंग में कांस्टेबल मामूली रूप से घायल हो गया। उधर, सीओ दौराला जितेंद्र सरगम ने पैर में तीन गोली मारकर मुख्य आरोपी शाकिब को धर दबोचा। घायल को जिला अस्पताल भेजते हुए अन्य सभी आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है,देखे खबर का पूरा वीडियो

Share it