Top

थाना प्रभारी ने किया सुसाइड...कमरे में लटकता मिला शव ..पुलिस महकमे में मचा हड़कंप

थाना प्रभारी ने किया सुसाइड...कमरे में लटकता मिला शव ..पुलिस महकमे में मचा हड़कंप

चूरू, 23 मई । जिले के सादुलपुर राजगढ़ थाना प्रभारी का शव शनिवार को उनके सरकारी क्वार्टर में फंदे से झूलता पाया गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और देखते ही देखते मामला सीएम तक पहुंचा और सीएम ने पुलिस महानिदेशक से मामले की जांच करने को कहा है। इससे पहले घटना की जानकारी मिलते ही रेंज के आईजी पुलिस जोस मोहन, पुलिस अधीक्षक एसपी तेजस्वनी समेत अन्य आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और मौके से मिले सुसाइड नोट के बाद मामले की जांच-पड़ताल में जुट गए। लेकिन फिलहाल अधिकारियों ने इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार किया है।

जानकारी के अनुसार सुसाइड नोट में आत्महत्या की वजह नहीं बताई गई है। थाना प्रभारी विष्णु दत्त विश्नोई पिछले कुछ समय से तनाव में चल रहे थे। शुक्रवार देर रात व शनिवार तड़के चार बजे तक बिश्नोई शुक्रवार को हुई फायरिंग मामले में जांच कर रहे थे। पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र सिंह ने इस मामले को लेकर आईजी और एसपी से रिपोर्ट मांगी है। एसपी ने एफएसएल की टीम को मौके पर बुलाकर शव को नीचे उतरवाया।

राजगढ़ थाना परिसर में पसरा सन्नाटा: मेडिकल टीम द्वारा पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंपा जाएगा। शाम तक आईजी और एसपी इस पूरे घटनाक्रम को लेकर अपनी रिपोर्ट पुलिस मुख्यालय को भेजेंगे। राजगढ़ थाना परिसर में माहौल गमगीन है और वहां सन्नाटा पसरा हुआ है। कोई कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। पुलिस का कहना है कि सुसाइड नोट की जांच की जाएगी। उसके बाद आगे की जांच की जाएगी। आत्महत्या के क्या कारण रहे इसका अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है।

वायरल हो रही एक दिवस पूर्व आरटीआई एक्टिविस्ट से वाट्सअप चैटिंग

सोशल मीडिया पर भी एसएचओ विष्णुदत्त विश्नोई की एक आरटीआई कार्यकर्ता एडवोकेट गोवर्धन सिंह से वाट्सअप चैटिंग भी चर्चा का विषय बनी हुई है। जिसमें विश्नोई ने अपने आपको गंदी राजनीति के शिकार होने की बात कही। यही नहीं इस चैटिंग में विश्नोई ने स्वैच्छिक सेवानिवृति की बात कहते हुए अपने ही अधिकारियों को सवालों के घेरे में खड़ा किया है। बताया जा रहा है यह चैटिंग उनकी मौत से महज 12 से 15 घंटे पहले की है। ऐसे में उनकी आत्महत्या ने कई सवाल खड़े कर दिए है।

केंद्रीय मंत्री ने जताया शोक, थाने के सामने धरने पर बैठे पूर्व सांसद व विधायक

घटना पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल, विधायक कृष्णा पूनिया, विधायक बिहारीलाल बिश्नोई ने दु:ख जताया है वहीं पूर्व विधायक मनोज न्यांगली, पूर्व सांसद रामसिंह कस्वां थाना परिसर के आगे धरने पर बैठ गए हैं और मामले की जांच करने की मांग की है।

इस मामले में आईजी पुलिस बीकानेर रेंज जोसमोहन का कहना है कि आत्महत्या की बात बिल्कुल सही है, मैं खुद मौके पर हूं और मुझे सुसाइड नोट मिला है जिसमें बिश्नोई ने अपने पिता से माफी मांगी है।

Share it