Top

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज का विवादित बयान...पंडित नेहरू होते तो पशुपालन की हालत खराब होती

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज का विवादित बयान...पंडित नेहरू होते तो पशुपालन की हालत खराब होती

मेरठ। अपने विवादित बयानों से केंद्रीय नेतृत्व की नाराजगी झेल चुके भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय पशुपालन, डेयरी व मत्स्य पालन गिरिराज सिंह ने आज फिर विवादित बयान दिया और कहा कि यदि पंडित नेहरू ज्यादा समय तक रहते तो देश में पशुपालन और मत्स्य पालन की हालत और खराब होती। श्री गिरिराज सिंह ने रविवार को मेरठ जिला सहकारी बैंक के भवन का लोकार्पण करने के बाद समारोह में कहा कि श्री नेहरू पशुपालन के विरोधी थे। उनके साथ मेरठ से भाजपा के सांसद राजेंद्र अग्रवाल व जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष भी थे। उन्होंने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार पशुपालन और मत्स्य पालन को बढ़ावा दे रही है, ताकि किसानों की आय बढ़े। उन्होंने कहा कि खाना तो सभी को चाहिये, लेकिन खेती कोई नहीं करना चाहता। खेती को दोयम दर्जे का समझा जा रहा है, जो ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि चार गाय पाल कर भी साल में लाखों कमाये जा सकते हैं। गाय का गोबर और उसका मूत्र दोनों की मांग बहुत है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि गाय का गोबर 20 रूपये किलो बिकता है। दूध से होने वाली आय अलग है। केंद्रीय मंत्री ने बिना किसी का नाम लिये कहा कि देश में कुछ लोग भारत को तोडना चाहते हैं। देश के लोगों को इनसे सचेत रहना होगा, जिससे देश विकास के मार्ग पर चलता रहे। ये कौन लोग हैं उन्हें जनता अब पहचानने लगी है। ऐसे लोगों को पूरी तरह से अलग-थलग करना होगा, ताकि देश बचा रहे।

Share it