Top

लखनऊ के सहारा अस्पताल का कारनामा...गर्ग परिवार को दे दिया मुस्लिम महिला इशरत का शव, मिर्जा परिवार को मिली अर्चना की लाश तो मचा हड़कंप

लखनऊ के सहारा अस्पताल का कारनामा...गर्ग परिवार को दे दिया मुस्लिम महिला इशरत का शव, मिर्जा परिवार को मिली अर्चना की लाश तो मचा हड़कंप

लखनऊ। लखनऊ के चर्चित सहारा हॉस्पिटल प्रशासन की घोर लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सहारा अस्पताल के कर्मचारियों की लापरवाही से मच्र्युरी में रखे महिलाओं के दो शवों में अदला-बदली हो गई, जिसकी वजह से हिंदू परिवार ने मुस्लिम महिला के शव का दाह संस्कार कर दिया और राख़ विसर्जित करने के लिए संगम के लिए चले दिए तो उन्हें जानकारी मिली कि उन्होंने मुस्लिम महिला का दाह संस्कार कर दिया है। इधर अस्पताल प्रशासन ने सारी औपचारिकताएं पूर्ण कर जब मिर्जा परिवार को इशरत का शव सौंपा तो हड़कम्प मच गया।

दरअसल जो शव मिजऱ्ा परिवार को दिया गया वो अर्चना गर्ग का था। मिजऱ्ा परिवार ने शव लेने से इनकार कर दिया। अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से लाश ही बदल गयी है। आनन-फानन में गर्ग परिवार को फोन कर लाश वापस मांगी गई, तो उस परिवार के भी होश उड़ गए, क्योंकि उस परिवार ने तो शव का अंतिम संस्कार कर दिया था और जब उनके पास फोन पहुंचा तो वे अस्थियां विसर्जित करने इलाहाबाद जा रहे थे। मिर्जा परिवार ने मामले की शिकायत तत्काल विभूतिखंड पुलिस से की। मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर विभूतिखंड राजीव द्विवेदी ने अस्पताल प्रशासन से बातचीत की तो मामला और उलझ गया।

इधर मिर्जा परिवार ने अर्चना गर्ग की लाश लेने से मना कर दिया और उधर गर्ग परिवार ने जिस शव का अंतिम संस्कार किया वो उनका था ही नहीं। गर्ग परिवार वापस लखनऊ आया है और अर्चना गर्ग की लाश ले कर चला गया। गर्ग परिवार को दुबारा सारी औपचारिकताएं करनी पड़ रही हैं। गर्ग परिवार को तो अर्चना का शव मिल गया। मगर अस्पताल प्रशासन मिजऱ्ा परिवार को इशरत का शव कहाँ से दे, क्योंकि वो तो गर्ग परिवार ने जला दिया।

फिलहाल खबर मिलने तक अस्पताल में हंगामा जारी था। अस्पताल प्रशासन ने बताया कि दोनों परिवारों और अस्पताल प्रबंधन में बातचीत चल रही है, जल्द ही समाधान निकलेगा। उधर इशरत के परिवार वालों ने इस मामले में शरई मसला जानने के लिये शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे सादिक़ से मुलाक़ात की। मौलाना ने कहा कि लाश तो जला दी गई, अब उसका कुछ नहीं हो सकता।

मगर बची हुई अस्थियां दफना कर अंतिम संस्कार कर दिया जाए। उधर अब अर्चना गर्ग का शव उनके परिवार को सौंप दिया गया है। आज उनका अंतिम संस्कार हिन्दू रीति रिवाज के हिसाब से होगा।

Share it
Top