Top

कैब के खिलाफ दिन भर होता रहा हिंसक प्रदर्शन, कई जगहों पर आगजनी व तोड़फोड़

कैब के खिलाफ दिन भर होता रहा हिंसक प्रदर्शन, कई जगहों पर आगजनी व तोड़फोड़


मुर्शिदाबाद- नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) के खिलाफ शुक्रवार की तरह शनिवार को भी राज्य के ज्यादातर हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन देखने को मिला। कहीं रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ की गई, कहीं रेलवे लाइन और सड़क पर घण्टों पथावरोध किया गया, तो कहीं बसों और रेलवे स्टेशनों को आग के हवाले कर दिया गया। सड़क और रेल मार्ग से यात्रा करने वाले हजारों यात्री घंटों जाम में फंसे रहे और प्रदर्शनकारियों के उपद्रव को देखकर दहशत में रहे। कुल मिलाकर शुक्रवार के बाद शनिवार को कैब के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन के कारण हजारों लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ा। विरोध प्रदर्शनों के चलते रेल और सड़क यातायात बुरी तरह प्रभावित रहा। शनिवार सुबह मुर्शिदाबाद जिले के निमतिता रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ की गई। स्टेशन मास्टर के कार्यालय के साथ टिकट काउंटर को होगी पूरी तरह तोड़ दिया गया। साथ ही पूरे स्टेशन को तहस नहस कर दिया गया। जिले के पोराडांगा स्टेशन पर भी विरोध प्रदर्शन किया गया। वहां भी उपद्रवियों ने पूरे रेलवे स्टेशन को तहस नहस कर दिया। इसके कारण अजीमगंज और फरक्का शाखा पर ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। मुर्शिदाबाद जिले के सूती इलाके में 34 नंबर राष्ट्रीय राजमार्ग पर साजुड़ मोड़ इलाके में पथावरोध किया गया। स्थानीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस दौरान कई वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया। इसके अलावा नोआपड़ा रेलवे स्टेशन पर भी उपद्रवियों ने तोड़फोड़ की और स्टेशन को आग के हवाले कर दिया।

सियालदह हासनाबाद रेल शाखा पर भी शनिवार को विरोध प्रदर्शन देखने को मिला हारुआ और चंपापुकुर स्टेशन के बीच एवं लाबूतला सोगुलिया स्टेशन के बीच रेलवे के ओवरहेड तार पर केले का पौधा फेंककर ट्रेन रोकी गई। लक्ष्मीकांतपुर और नामखाना स्टेशन के बीच भी रेल अवरोध किया गया। पूर्व मेदिनीपुर जिले के पांसकुड़ा हल्दिया शाखा के केशवपुर स्टेशन के पास तृणमूल कांग्रेस की ओर से रेल अवरोध किया गया। इसके अलावा उत्तर 24 परगना जिले के टाकी रोड सहित विभिन्न स्थानों पर पथावरोध किया गया। हावड़ा जिले में उग्र प्रदर्शनकारियों ने दो बसों में आगजनी की। बीरभूम, पश्चिम मेदनीपुर और नदिया जिले में भी नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। वहीं सियालदह हासनाबाद शाखा के कांकड़ा मिर्जानगर स्टेशन पर कांग्रेस ने रेल अवरोध किया। बताया जा रहा है कि हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे ने कई लोकल ट्रेनों को रद्द कर दिया है। जिन जिन स्थानों पर तोड़फोड़ व आगजनी हुई है वहां बड़ी संख्या में पुलिस बलों को तैनात किया गया है और परिस्थिति को काबू करने की कोशिश की जा रही है। शनिवार शाम तक मुर्शिदाबाद जिले की स्थिति बेहद तनावपूर्ण थी। उधर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि प्रदर्शन के दौरान माहौल अशांत करने और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहूंचाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कोलकाता में अल्पसंख्यक समुदाय के लोग सड़कों पर उतर आये थे और कई इलाकों में यातायात अवरूद्ध कर दिया था। इस दौरान हावड़ा जिले के उलुबेड़िया और मालदह जिले के बेलडांगा स्टेशनों पर तोड़फोड़ व आगजनी की गई थी।

Share it
Top