Top

यूपी में डेढ़ सौ से अधिक स्थानों पर चक्का जाम... पुलिस की सतर्कता के चलते लखनऊ में विधानसभा का घेराव नहीं कर सके भाकियू कार्यकर्ता

यूपी में डेढ़ सौ से अधिक स्थानों पर चक्का जाम... पुलिस की सतर्कता के चलते लखनऊ में विधानसभा का घेराव नहीं कर सके भाकियू कार्यकर्ता

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गन्ना मूल्य नहीं बढ़ाए जाने से नाराज भारतीय किसान यूनियन ने आज समूचे प्रदेश में जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस की सतर्कता के चलते भाकियू कार्यकर्ता लखनऊ में विधानसभा का घेराव नहीं कर सके। विधानसभा के घेराव के कार्यक्रम को देखते हुए पुलिस ने कई जगहों पर मंगलवार की रात में ही बैरेकेटिंग कर दी थी, जिससे भारतीय किसान यूनियन ने नेता और कार्यकर्ता पहुंच नहीं सके। ज्ञातव्य है कि राज्य सरकार ने इस बार गन्ने की दरें नहीं बढ़ाई हैं। दर में कोई बढ़ोत्तरी नहीं करने से भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता काफी नाराज हैं। इसी के चलते भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश व्यापी चक्का जाम के आह्वान पर भाकियू के धीरज लाटियान, राजू अहलावत, विकास, नवीन राठी, सतेंद्र ठाकुर, अनुज बालियान, कुशल वीर सिंह, विपिन बालियान, महकार सिंह, अशोक घटायन आदि के नेतृत्व में मुजफ्फरनगर में 14 जगह राष्ट्रीय राजमार्ग एवं राज्य राजमार्ग को जाम किया गया। जनपद बिजनौर में दिगंबर सिंह जिला अध्यक्ष के आह्वान पर 4० स्थानों पर चक्का जाम किया गया। जनपद अमरोहा में उमेद सिंह, डूंगर सिंह के नेतृत्व में राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किया गया। जनपद संभल में शंकर सिंह, विजेंद्र यादव के नेतृत्व में संभल में जाम किया गया। मुरादाबाद जनपद में डॉ नौसिंह, ऋषि पाल सिंह, मनोज चौधरी, नीटू चौहान आदि के नेतृत्व में चार जगह राष्ट्रीय राजमार्ग व राज्य राजमार्ग पर जाम किया गया। जनपद हापुड़ में सतवीर सिंह, धनवीर शास्त्री, दिनेश खेड़ा, सतवीर आर्य, बबली, नितिन बना आदि के नेतृत्व में 6 जगह राष्ट्रीय राजमार्ग व राज्य मार्ग को जाम किया गया। जनपद सहारनपुर में विनय कुमार, चरण सिंह, अशोक, जगपाल सिंह आदि के नेतृत्व में 8 जगह रास्तों पर जाम किया गया। जनपद बुलंदशहर में गुड्डू प्रधान बिशन सिंह सिरोही आदि के नेतृत्व में 9 जगह जाम लगाकर विरोध प्रकट किया गया। शामली में कपिल खटियान, कुलदीप पवार, जावेद तोमर, कुलदीप सैनी, योगेंद्र सिंह, संजीव राठी आदि के नेतृत्व में तीन जगह चक्का जाम किया गया। फैजाबाद जनपद में भी चार जगह रास्ता जाम किया गया। जनपद मेरठ में नरेश चौधरी, गजेंद्र चौधरी, विलियम, उदयवीर, संजय दौराला, रविंद्र सिंह, सतवीर सिंह आदि के नेतृत्व में 8 जगह राज्य राजमार्ग वे राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम किया गया। जनपद गाजियाबाद में विजेंद्र सिंह के नेतृत्व में मोदीनगर में राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किया गया। रामपुर में हसीब, महेंद्र सिंह रंधावा के नेतृत्व में शहजाद नगर में राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किया गया। जहां पर रामपुर के जिला अध्यक्ष हसीब को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। किसानों के विरोध के बावजूद बाद में उन्हें रिहा किया गया। नोएडा में पवन खटाना, महेंद्र सिंह, सुभाष चौधरी, अमित कसाना के नेतृत्व में जेवर गोल चौक राष्ट्रीय राजमार्ग जाम किया गया। शाहजहांपुर में सरदार अजीत सिंह के नेतृत्व में तीन जगह रास्ते जाम किये गई। लखीमपुर खीरी में बाबा सर्वजीत सिंह ने जाम लगाकर ज्ञापन दिया। लखनऊ में किसानों को घर से निकलते ही पुलिस ने जगह-जगह रोक लिया इसके बावजूद हरनाम सिंह ने देवा रोड और सरदार गुरमीत सिंह ने ओसीआर बिल्डिंग में गन्ना जलाकर अपना विरोध दर्ज कराया। सीतापुर में उमेश पांडे के नेतृत्व नेतृत्व में लाल चौक पर जाम किया गया। जनपद बागपत में प्रताप चौधरी, राजेंद्र सिंह, उपेंद्र, विजेंद्र, इंद्रपाल सिंह के नेतृत्व में चार पांच जगह जाम लगाकर विरोध दर्ज कराया। जनपद अलीगढ़ में विमल तोमर सुन्दर बालियान, विजय तालान, आदर्श चौधरी,जगदीश यादव, विजेंदर सिंह के नेतृत्व में पांच जगह रास्ता जाम किया गया। मथुरा में भी राजकुमार तोमर गजेंद्र सिंह के नेतृत्व में किसानों ने सादाबाद मथुरा रोड पर जाम लगाकर अपना विरोध प्रकट किया। सभी जगह 11:०० बजे से लेकर 2:०० बजे तक राष्ट्रीय राजमार्ग वह राज्य राजमार्ग जाम रखे गए। 2 बजे के बाद अधिकारियों को ज्ञापन देकर चेतावनी देते हुए कहा कि अगर 2० तारीख तक सरकार ने गन्ना मूल्य वृद्धि में निर्णय नहीं लिया तो 21 दिसंबर को पूरे प्रदेश के किसान जिला मुख्यालय पर अपना कब्जा कर लेंगे।

Share it
Top