Top

अनाज मंडी अग्नि हादसे वाली इमारत का मालिक आप का कार्यकर्ता: तिवारी

अनाज मंडी अग्नि हादसे वाली इमारत का मालिक आप का कार्यकर्ता: तिवारी



नयी दिल्ली- मध्य दिल्ली के रानी झांसी रोड के निकट अनाज मंडी इलाके में भीषण अग्नि हादसे में 43 लोगों की दर्दनाक मौत पर राजनीति तेज हो गयी है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सोमवार को आरोप लगाया कि जिस इमारत में आग लगी, उसके मालिक का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) से संबंध है।

उत्तर पूर्वी दिल्ली से सांसद श्री तिवारी ने संवाददाता सम्मेलन में रविवार को हुए इस भीषण अग्नि हादसे को लेकर कहा कि दिल्ली सरकार ने मृतकों के आश्रितों को 10-10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता का एलान किया है जो बहुत कम है और इसे बढ़ाया जाना चाहिए।

उधर मकान के मालिक रेहान और फैक्ट्री के प्रबंधक फुरकान दोनों को आज तीस हजारी अदालत ने पूछताछ के लिए दिल्ली पुलिस की 14 दिन की हिरासत में भेज दिया।

श्री तिवारी ने कहा," जिस इमारत में यह आग लगी, उसका मालिक रेहान है और रेहान आप का कार्यकर्ता है। इस क्षेत्र का विधायक और निगम पार्षद भी आप का ही है।" उन्होंने आरोप लगाया कि दोनों के संरक्षण में मकान में फैक्ट्री चल रही थी।

उन्होंने कहा कि श्री केजरीवाल आग हादसे से अपनी जिम्मेदारी से भाग नहीं सकते हैं। उन्होंने कहा, श्रम हो, अग्नि शमन विभाग हो या बिजली हो, सभी दिल्ली सरकार के अधीन आते हैं और श्री केजरीवाल मुख्यमंत्री हैं। जब सारे विभाग दिल्ली सरकार के अधीन आते हैं तो मुख्यमंत्री जिम्मेदारी से कैसे नकार सकते हैं। मकान में बिजली का कनेक्शन किसकी अनुमति से दिया गया। दिल्ली सरकार ने सकरी गलियों में जाने के लिए बाइक एम्बुलेंस का बहुत प्रचार किया था। इस सेवा के बारे में जानकारी देने के लिए नौ करोड़ रुपए के विज्ञापन दिए गए थे तो कल आग लगने के समय एम्बुलेंस बाइक सेवा कहां थीं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली सरकार की 10 लाख रुपए की राहत राशि बहुत कम है जिसे बढ़ाकर कम से कम एक करोड़ रुपए किया जाना चाहिए। उन्होंने घायलों के लिए भी सहायता राशि एक लाख रुपए से बढ़ाकर 10 लाख किए जाने की उन्होंने मांग की।

इस हादसे में मारे गये सभी मृतकों की पहचान अभी नहीं हो सकी है। सबसे अधिक घायल लोकनायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल (एलएनजेपी) लाए गए थे। यहां 34 लोगों की मौत हुई है जिनमें से अभी तक 17 की ही शिनाख्त हो पाई है। यहां 14 का उपचार चल रहा है जिनमें एक की हालत गंभीर है। दो घायलों का उपचार करके कल छुट्टी दी गई थी दो को आज दी गई है। मृतकों और घायलों में अधिकतर बिहार के रहने वाले हैं।


Share it
Top