Top

दिशा हत्याकांड: आरोपितों के मारे जाने के बाद जश्न,पुलिस पर फूलों की वर्षा की


हैदराबाद (तेलंगाना)। वेटनरी डॉक्टर दिशा से हैवानियत करने के बाद उसकी हत्या करने के मामले में चारों आरोपितों के मारे जाने के बाद नगर में एक तरह का जश्न का माहौल है। दिशा के परिजनों ने भी मिठाई बांट कर इस पर खुशी जताई। दोनों तेेेेेलुुगुु राज्यों में भी कई स्थानों पर लोगों न पटाखे फोड़कर और मिठाई बांट कर जश्न मनाया।

शुक्रवार को लोगों को दिशा कांड के आरोपितों के भागने की कोशिश के दौरान पुलिस की गोली से मारे जाने की खबर फैली तो सैकड़ों लोग घटनास्थल पर पहुंच गये और पुलिस की कार्रवाई पर संतोष जताया। कुछ लोगों ने इस कार्रवाई में शामिल पुलिस पर फूलों की वर्षा की और पुलिस जिन्दाबाद के नारे लगाये। पुलिस की कार्रवाई में चारों आरोपितों के मारे जाने पर पीड़ित दिशा के परिजनों ने मिठाई बांंट कर इस पुलिस की करवाई पर संतुष्टि जताई। दिशा के माता और पिता ने कहा है कि वे इस कारवाई से उन्हें न्याय मिला है। उनका पूरा परिवार दिशा के दशदिनकरमा (दसवीं दिन) के कार्य में पूरा जुटा है। ऐसे में आज के दिन आरोपितों के मारे जाने की खबर मिलना अच्छा लगा।उनके परिवार को लगता है कि इस कार्रवाई से दिशा की आत्मा को शांति मिलेेेेेगी।

हैदराबाद के अलावा कई छोटे-बड़े शहरों में ढोल पीट कर व पटाखे फोड़कर लोगों ने जश्न मनाया। घटनास्थल के पास हज़ारों की भीड़ ने पुलिस के जयकारे लगाये और साइबराबाद पुलिस आयुक्त सज्जनर की सरहाना की है। घटनास्थल के आसपास पर भारी भीड़ एकत्र होने से सड़क पर जाम लग गया।

राज्य के मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव के बेटे और मंत्री केटीआर ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा कि लोग अब अपराधियों पर तत्काल कार्रवाई चाहते हैं। लोग चाहते है कि अपराधियों को तत्काल सजा मिले।

पहले भी चर्चा में रहे हें पुलिस कमिश्नर सज्जनार

आईपीएस अफसर सज्जनार इससे पूर्व वर्ष 2008 में भी चर्चा में आये थे। जब उन्होंने वारंगल में एक लड़की पर तेज़ाब का हमला करने के तीन आरोपितों को पुलिस ने इसी तरह मुठभेड़ में मार गिराया था। सज्जनार उस समय वारंगल ज़िले में एससपी के रूप में कार्यरत थे। साइबराबाद पुलिस के कमिश्नर वीसी सज्जनार 1996 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। इसके अलावा मोआवादी के साथ हुई मुठभेड़ाेंं में भी कई बार सज्जानार का नाम ज़िक्र हुआ था।


Share it
Top