Top

भजनपुरा हत्याकांड- रिश्तेदार ने की थी एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या,गिरफ्तार

भजनपुरा हत्याकांड-  रिश्तेदार ने की थी एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या,गिरफ्तार




नयी दिल्ली ।पूर्वी दिल्ली के भजनपुरा में मामूली रकम के लिए करीबी रिश्तेदार के एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या करने के मामले का पुलिस ने खुलासा किया है।

पूर्वी रेंज के संयुक्त पुलिस आयुक्त आलोक कुमार ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि भजनपुरा में एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या का मामला पुलिस ने 24 घंटे में सुलझाते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जिसकी पहचान प्रभु चौधरी के रूप में हुई है। प्रभु ने शम्भु चौधरी (43) समेत परिवार के पांच लोगों की हत्या की बात कबूल कर ली है। प्रभु और शम्भु आपस में फुफेरे भाई है।

श्री कुमार ने बताया कि तीन फरवरी को प्रभु ने पैसों से लेनदेन के बारे में शम्भू को लक्ष्मी नगर बुलाया और इस बीच प्रभु भजनपुरा स्थित शम्भू के घर पहुंच गया। करीब साढ़े तीन बजे प्रभु, शम्भू के घर पहुंचा जहां शम्भू की पत्नी सुनीता (37)अकेली घर में थी। प्रभु ने शम्भू से 30 हजार रुपये उधर ले रखे थे और इसी को लेकर सुनीता से कहा सुनी हुई। प्रभु ने लोहे की रॉड से उस पर हमला कर दिया और फिर गला दबाकर सुनीता की हत्या कर दी। उसके कुछ देर बाद उसकी बेटी कोमल (12)पहुंचती है और उसे भी अंदर बुलाकर हत्या कर देता है।

श्री कुमार के अनुसार आरोपी ने हत्या के बारे में सिलसिलेवार ढंग से बताया है लेकिन पुलिस प्रभु से गहन पूछताछ कर रही ताकि इसके पीछे की पूरी मंशा का पता लगाया जा सके। कोमल की हत्या करने के बाद प्रभु घर पर ही रुका रहा और एक घंटे बाद शम्भू का पुत्र शिवम (17)आया तब उसकी भी रॉड मारकर हत्या कर दी और अंत में सचिन (14)जब स्कूल से आया तो उसकी भी हत्या कर दी।

उन्होंने कहा कि साढ़े तीन बजे से सात बजे के बीच प्रभु ने चार लोगों की हत्या कर दी और उसके बाद वह शम्भू को फोन बाहर मिलता है और उसके साथ शराब पीकर रात 11.30बजे वापस दोनों भजनपुरा आता है और आखिर में शम्भू की हत्या कर देता है।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते कई टीमें बनाईं और सघन जांच अभियान शुरू किया। पुलिस को सबसे पहला संकेत स्कूल से मिला जहां से पता चला कि बच्चे आखिरी बार तीन फरवरी को स्कूल आये थे। उसके बाद पुलिस ने शम्भू की मोबाइल डिटेल निकली तो आखिरी काल भी तीन फरवरी को प्रभु की थी। उसके बाद मामले के करीब पहुंची पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाला और पूरा मामला साफ हो गया। प्रभु 28 साल का है और भजनपुरा में ही रहता है।

अधिकारी ने कहा कि कल भजनपुरा से पुलिस को सूचना मिली थी कि एक घर से बदबू आ रही है उसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो घर पांच शव पड़े मिले।

गौरतलब है कि शंभू 15-16 साल से भजनपुरा इलाके में अलग-अलग मकानों में किराए पर रह रहे थे। इस बीच उन्होंने जूस की दुकान खोली थी। नुकसान होने की वजह से दुकान बंद की और ई-रिक्शा चलाना शुरू कर दिया। उनके बच्चे यमुना विहार के स्कूल में पढ़ते थे। इसलिए पूरा परिवार भजनपुरा इलाके में ही रहता था। वह बिहार के सुपौल जिले का रहने वाला था।


Share it
Top