Top

कोरोना संक्रमित मरीज को पकड़ने पुलिस को करनी पड़ी कड़ी मशक्‍कत

कोरोना संक्रमित मरीज को पकड़ने पुलिस को करनी पड़ी कड़ी मशक्‍कत

05 अगस्‍त। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से देश पूरी तरह से प्रभावित है। इस वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए संक्रमित मरीजों को आइसोलेट करना बहुत जरूरी है। लेकिन ऐसे कई मामले सामने आएं कि संक्रमित मरीज आइसोलेशन सेंटर से भाग गया या फिर टेस्ट रिपोर्ट की जानकारी मिलते ही चोरी-छिपे गायब हो गया। कुछ ऐसा ही मामला मध्य प्रदेश के छतरपुर से भी सामने आया है। छतरपुर में एक कोरोना संक्रमित मरीज को पकड़ने के लिए पुलिस को 2 बजे रात में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

दरअसल, पुलिसकर्मियों ने संक्रमित को पकड़ने के लिए चोरों की तरह उसके घर की दीवार फांद कर अंदर दाखिल हो गए। जमीन से ऊंचाई अधिक होने की वजह से उन्हें सीढ़ी का भी इस्तेमाल करना पड़ा। काफी मेहनत करने के बाद पुलिस टीम कोरोना संक्रमित के पास पहुंच पाई। इसके बाद रात में ही संक्रमित मरीज को जिला अस्पताल में बने कोविड सेंटर में भर्ती करा दिया गया।

पुलिसकर्मियों को आधी रात में ऐसा कारनामा इसलिए करना पड़ा, क्योंकि शहर के सिंधी कॉलोनी में रहने वाले एक शख्स ने अपनी बीमारी की जानकारी छिपाकर खुद को परिवार के साथ घर में बंद किए हुआ था। इस बात की जानकारी प्रशासन की टीम को मिल चुकी थी।

पुलिस ने भी तत्परता दिखाते हुए रात में ही संक्रमित मरीज के घर में चोरों की तरह दाखिल हो गई। वहीं, कॉलोनी में रात में पुलिस और प्रशासन की जानकारी मिलते ही लोगों की भीड़ भी इकट्ठा हो गई। पुलिसकर्मियों के इस तरीके से काम करने के अंदाज को देखकर मोहल्ले के लोग भी हैरत में पड़ गए थे।

छतरपुर तहसीलदार ने इस मामले को लेकर कहा कि कोरोना बीमारी से बिल्कुल डरने की जरूरत नहीं है और ना ही इसकी जानकारी छिपानी चाहिए। क्योंकि एक पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने से कई और व्यक्ति भी संक्रमित हो सकते हैं।

Share it