Top

एकाधिकार चाहता है पति

एकाधिकार चाहता है पति

'तुम्हारी जिंदगी में शादी से पहले कोई आया था', सुहागरात को राजन ने मेघना से पूछा था।
'मैं कॉलेज में पढ़ती थी। तब रमेश मेरी जिंदगी में आया था', मेघना ने राजन को शादी से पहले के अपने प्रेम प्रसंग का जिक्र कर दिया था।
मेघना के रमेश से संबंध भावात्मक थे लेकिन राजन के दिमाग में यह बात घर कर गई कि मेघना के उससे शारीरिक रिश्ते रहे हैं। मेघना, राजन के दिमाग से यह बात नहीं निकाल सकी। नतीजा दांपत्य में शुरूआत में ही दरार पड़ गई जिसका परिणाम तलाक ही निकला।
माया कॉलेज में साथ पढऩे वाले दिनेश से प्यार करती थी, उसी से शादी करना चाहती थी लेकिन दिनेश पिछड़ी जाति का था इसलिए घर वाले तैयार नहीं हुए। उन्होंने माया की शादी जबरदस्ती सुरेश से कर दी।
माया मन से सुरेश को पति स्वीकार न कर सकी। सुरेश के प्रति रूखे व्यवहार ने दिल में संशय पैदा कर दिया। माया ने तो नहीं बताया लेकिन सुरेश को माया के पूर्व प्रेम प्रसंग का पता चल गया। सुरेश इसे सहन नहीं कर पाया और माया को छोड़ दिया।
हर पति अपनी पत्नी पर एकाधिकार चाहता है। मर्द को यह बरदाश्त नहीं होता कि उसकी पत्नी के शादी से पूर्व किसी से शारीरिक संबंध रहे हों। शादी के बाद भी पति चाहता है पत्नी सिर्फ उसी की होकर रहे। न उसकी जिंदगी में पहले कोई आया हो, न बाद में कोई आये।
अगर औरत की जिंदगी में पति से पहले कोई नहीं आया हो तो कोई बात नहीं है लेकिन अगर शादी से पहले आया है तो उसे भूल जायें। पहले प्यार का जिक्र भूल से भी पति से न करे।
जो औरतें शादी से पहले का सब कुछ भूलकर पति की बनकर रहती हैं उनका दांपत्य जीवन सुखी रहता है।
आप भी चाहती हैं, आपका जीवन सुखमय हो तो पति की ही बनकर जियें।
-किशन लाल शर्मा

Share it
Top