Top

बालों की सुंदरता, मजबूती और स्वास्थ्य का रखें ख्याल

बालों की सुंदरता, मजबूती और स्वास्थ्य का रखें ख्याल

सुंदर, मजबूत और स्वस्थ बाल हर औरत का गहना हैं और महिला के व्यक्तित्व को निखारने में मदद करते हैं। कुछ महिलाओं को वंशानुगत स्वस्थ, मजबूत और सुंदर बाल मिलते हैं, कुछ लोग बचपन से ध्यान रखकर बालों को सुंदर बनाकर रखते हैं।

अगर वंशानुगत बालों का भी सही ध्यान नहीं रखा जाए तो वे बर्बाद और खराब होने में अधिक समय नहीं लेंगे।

बालों की सुंदरता मजबूती और स्वास्थ्य को मैनटेन करने के लिए आवश्यकता है कुछ विशेष ध्यान रखने की।

- बालों की सुंदरता, मजबूती और स्वास्थ्य बनाएं रखने के लिए स्कैल्प को साफ रखना अति आवश्यक है क्योंकि बालों की अधिकतर समस्याएं सही सफाई न होने के कारण होती हैं।

रूखे बालों को सप्ताह में तीन बार क्र ीमयुक्त शैंपू से साफ करना चाहिए और तैलीय बालों को सप्ताह में तीन बार क्लींजर या माइल्ड शैम्पू का प्रयोग कर बाल साफ करना चाहिए।

- शैंपू करने से एक रात पूर्व बालों पर नारियल या बादाम का तेल लगाकर हल्के हाथों से मसाज करें। प्रात: बाल शैंपू कर लें। इससे बाल कम टूटते हैं।

- शैंपू को बालों से अच्छी तरह निकालें। वैसे भी शैंपू करने से बाल रूखे होते हैं। अगर उनमें शैंपू भी रहेगा तो बाल बहुत रूखे हो जाएंगे और अधिक टूटेंगे। उनमें कंघी भी ठीक तरह से नहीं होगी। शैंपू हटाने के बाद बालों में कंडीशनर लगाएं ताकि बालों की नमी धोने के बाद बरकरार रहे और बाल मुलायम और चमकीले बने रहें।

- अगर गीले बालों में कंघी करनी पड़े तो खुले दांतों वाली कंघी प्रयोग में लाएं। इससे बाल कम टूटेंगे। नहीं तो आप गीले बालों में उंगलियां चला कर बाल सुखा सकते हैं। बाल टूटेंगे भी नहीं और सूखेंगे भी जल्दी।

- स्टीम बालों के स्वास्थ्य और मजबूती हेतु अच्छी है। सप्ताह में एक बार बालों को स्टीम दें। स्टीम देने से एक घंटा पूर्व बालों पर तेल से हल्की मालिश कर लें। फिर गर्म पानी में तौलिया डुबो कर निचोड़ कर सिर पर लपेट लें।

- बालों पर सीधा शैंपू मत लगाएं। शैंपू थोड़े पानी में घोलकर बालों पर लगाएं ताकि उसमें पड़े कैमिकल्स का प्रभाव कुछ कम हो जाए।

सीधा शैंपू प्रयोग करने से बाल कमजोर हो जाते हैं।

- अपना हेयर ब्रश या कंघा सप्ताह में एक बार साबुन और टूथ ब्रश से अवश्य साफ करें।

इन सब बातों को ध्यान में रखें। उसके अलावा पौष्टिक आहार लेना भी अति आवश्यक है। अपने खाद्य पदार्थों में प्रोटीन को स्थान दें। दूध और दूध से बने खाद्य पदार्थ, बींस और सोया नियमित लें। जो लोग मांसाहारी हैं, वे अंडा, मछली, मांस का सेवन करें।

- मेघा गाबा

Share it
Top