Top

विटामिन लीजिए, स्वस्थ रहिए

विटामिन लीजिए, स्वस्थ रहिए

विटामिनों का हमारे शरीर के सम्पूर्ण विकास के लिए बहुत गहरा योगदान है। अगर हम विटामिन से निर्मित खाद्य व पेय पदार्थों का सेवन न करें तो हमारे शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां जन्म ले लेती हैं। हम बीमार रहने लगते हैं। शरीर का विकास रूक जाता है। विटामिन्स हमारे शरीर की रोगों से रक्षा करते हैं। इसलिए इनका सेवन करते रहना चाहिए।

विटामिन ए - इसकी कमी से दृष्टि कमजोर, नेत्रों में कई प्रकार के रोग तथा दांत कमजोरी से हिलने लगते हैं। हरी चौलाई, पत्ता गोभी, धनिया, मूली के पत्ते, पोदीना, मेथी, गाजर, आम तथा मक्खन आदि का सेवन बीमारी का खात्मा करने के लिए उपयोगी हैं।

विटामिन बी - इसकी कमी से मांसपेशियों में कमजोरी, अंगमारी तथा झन्नाहट होती है। बंद गोभी, गाजर, दूध, हरे शाक तथा खमीर का सेवन उपयोगी साबित होता है।

विटामिन सी - इसकी कमी से मुख पीला, शरीर दर्द, मसूड़े फूलना, पायरिया, रक्त के कमी, सर्दी, निमोनिया, फ्लू आदि रोग होते हैं। संतरा, नींबू, मौसमी आदि रसदार फलों का अधिक इस्तेमा हितकर है। आंवला भी उपयोगी है।

विटामिन डी - इसकी कमी से हड्डियों का रोग, सूखा, वक्ष का बेडौल होना तथा फूली हुई कमजोर हड्डी होना आदि समस्याएं होती हैं। सूर्य का प्रकाश व शाक मछली का तेल उत्तम है।

विटामिन ई - पुरूषों में नपुंसकता, महिलाओं में बांझपन इसकी कमी से होता है। हरी पत्ती के शाक मक्का, मटर और जौ का प्रयोग लाभप्रद है।

विटामिन के - इसकी कमी से खून नहीं बनता। यह गोभी, पालक, टमाटर और सोयाबीन में पाया जाता है।

विटामिन्स तो फायदेमंद हैं ही, इनके अलावा पौष्टिक ताजा घर का भोजन, पानी काफी मात्र में पीना, टहलना हल्का-फुल्का व्यायाम जैसी आदतों को भी रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल करें तो देखिए कि आपके शरीर का विकास कितनी तेजी से होता है।

- अलका अमरीश चौधरी

Share it