Top

उच्‍च रक्‍तचाप को नियंत्रित करते हैं ये योगासन

उच्‍च रक्‍तचाप को नियंत्रित करते हैं ये योगासन

31 जुलाई। आजकल तनाव लोगों की जिंदगी का अहम हिस्सा बन गया है। वहीं लॉकडाउन और कोरोना महामारी ने इस बीमारी को बढा़ने में ही मदद की है। जिसकी वजह से लोग परेशान और बीमार हो रहे हैं। अगर आपको भी तनाव रहता है और हाई बीपी की समस्या सामने आ रही है तो देर ना करें। दिनचर्या में योग को अभी से शामिल कर लें। योग मानसिक परेशानियों को कम करने में बहुत मदद करता है। हालांकि ये कोई जादू नही है लेकिन लगातार योगासन का अभ्यास आपको स्वस्थ जीवनशैली जीने में मदद करता है। जिससे आप खुश रहेंगे और तनाव से दूर होने में मदद मिलेगी। तो चलिए जानें कौन से हैं वो योगासन जिनका अभ्यास बहुत जरूरी है।

बालासन

बालासन को चाइल्ड पोज भी कहते हैं। इस आसन को करने से तनाव या हाइपरटेंशन की परेशानी से निजात मिलती है। इस आसन को करने से रक्त का संचार पूरे शरीर में सुचारू रूप से होता है। बालासन को करने से सांस की प्रक्रिया पर ध्यान दिया जाता है, जो तनाव और स्ट्रेस को कम करने में मदद करता है।

शवासन

शरीर को आराम पहुंचाने और मस्तिष्क को शांति देने के लिए शवासन करना बहुत लाभकारी है। उच्च रक्तचाप और अनिद्रा की शिकायत दूर करने में शवासन मदद करता है। इस आसन को करना बहुत आसान है।

सुखासन

सांस की प्रक्रिया से संबंधित इस आसन को करने से स्ट्रेस कम होता है। सुखासन की क्रिया को करने से मस्तिष्क को शांति मिलती है और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या दूर होती है।

सेतुबंधासन

सेतुबंधासन को करने के दौरान शरीर का पोज किसी सेतु के समान हो जाता है। इस आसन का प्रतिदिन अभ्यास डिप्रेशन और स्ट्रेस, तनाव को दूर करने में मदद करता है। यह मन को शांत करता है। इसलिए यह आसन उच्च रक्तचाप और माइग्रेन की बीमारी में लाभ पहुंचाने के लिए बहुत प्रचलित है।

भुजंगासन

भुजंगासन करने से शरीर लचीला होता है और कमर दर्द और पेट की बढ़ी हुई चर्बी से निजात मिलती है। अस्थमा के मरीजों के लिए भुजंगासन बहुत लाभदायक है। इसके साथ ही यह आसन तनाव और उच्च रक्तचाप से भी आराम दिलाता है।

Share it